साल 2017 की ये हैं 10 बड़ी बाते जिनसे हुआ भारत का अर्थशास्त्र मजबूत- जाने यहाँ

Thursday, December 28, 2017

साल 2017 की ये हैं 10 बड़ी बाते जिनसे हुआ भारत का अर्थशास्त्र मजबूत- जाने यहाँ

साल 2017 की ये हैं 10 बड़ी बाते जिनसे हुआ भारत का अर्थशास्त्र मजबूत- जाने यहाँ
नोट बंदी के फैसले से लोगों को काफी परेशानी हुई लेकिन उन्होंने इसे एक अच्छा कदम मानते हुए स्वीकार कर लिया । नोटबंदी के असर के साथ शुरू हुआ 2017 में आर्थिक रूप से कई बड़े बदलाव हुए । आर्थिक सुधारों से लेकर शेयर बाजारों की नई ऊंचाइयों तक, आर्थिक रूप से अनेक परिवर्तन हुए | वर्ष 2017 में अर्थव्यवस्था कितनी मजबूत हुई ?,इसके बारे में आपको इस पेज पर बता रहें है |



10 बड़ी बातें –जिनसे हुआ भारत का अर्थशास्त्र मजबूत

1.वर्ष 2017 का शुभारम्भ नोट बंदी के साथ हुआ | नोट बंदी से लोगो को काफी परेशानियों का सामान करना पड़ा ,परन्तु आने वाले कल को बेहतर बनाए के लिए इसे लोगो ने स्वीकार किया |

2.गुड्स और सर्विसेज टैक्स यानी जीएसटी को 1 जुलाई 2017 से सम्पूर्ण देश में लागू हुई थी । इनमे अलग –अलग वस्तुवो के अनुसार टैक्स दरे निर्धारित हुई | टैक्स सिस्टम में 0, 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत की टैक्स दरें तय की गईं । जबकि , डीजल-पेट्रोल और शराब को जीएसटी से बाहर रखा गया ।

3.केंद्र सरकार ने सरकारी बैंकों के रीकैपिटलाइजेशन की घोषणा 24 अक्टूबर को किया | इन बैंकों का नॉन-परफॉर्मिंग ऐसेट का स्तर जून 2017 में 8,29,338 करोड़ रुपये तक पहुंच चुका गया ।

4. 28 जून 2017 को भारत सरकार ने सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया लिमिटेड और इसकी पांच सहायक कंपनियों के प्राइवेटाइजेशन की स्वीकृति प्रदान की । 


5.एक मई 2017 को सरकार द्वारा रियल एस्टेट ऐक्ट को लागू कर दिया गया । उस समय देश के 13 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने फ्लैट बायर्स के हितों की रक्षा करने और रियल एस्टेट सेक्टर में पारदर्शिता को बनाये रखने के लिए रेरा के अन्तर्गत नोटिफिकेशन जारी हुए थे |

6.पांच नवम्बर को सरकार ने काला धन पर कार्यवाही करते हुए लाखो कंपनियों के खाते सील कर दिए ,क्योंकि इन कंपनियों ने दो या दो से अधिक वर्षो से किसी प्रकार का कोई लें दें नहीं किया था | इसके साथ ही 15 दिनों के अन्दर सरकार ने 2 लाख डायरेक्टरों को अयोग्य घोषित का दिया |

7.पहली बार निफ्टी ने 22 दिसम्बर को 10,501 का आकड़े को क्रास किया ,और  सेंसेक्स ने 33,964 अंकों तक पहुंचने में सफलता प्राप्त की |


8.ग्लोबल रेटिंग्स एजेंसी मूडीज ने करीब 13 साल बाद भारत की रेटिंग में सुधार करते हुए बेहतर संकेत दिए । एजेंसी ने स्टेबल आउटलुक देते हुए भारत की रेटिंग 'Baa2' कर दी । मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारत सरकार के स्थानीय और विदेशी मुद्रा जारी करनेवाली रेटिंग्स 'Baa2' से बढ़ाकर 'Baa3' कर दी और रेटिंग आउटलुक को स्थिर से बढ़ाकर सकारात्मक कर दिया ।

9.वर्ष 2017 में भारत सहित वैश्विक स्तर की बड़ी कंपनियों में दिग्गजों का आना-जाना लगा रहा । देश की दिग्गज आईटी कंपनी इन्फोसिस के सीईओ विशाल सिक्का ने 18 अगस्त को तो पेप्सिको इंडिया के सीईओ डी. शिवकुमार ने अक्टूबर में कंपनी के पद से त्याग पत्र दे दिया ।


10. वर्ष के अंतिम माह दिसम्बर में डिजिटल करंसी बिटकॉइन ने कीमत में वृद्धि करके 19 दिसंबर को 18,835.98 डालर की नई ऊंचाई पर पहुच गयी | एक बिटकॉइन की कीमत भारतीय मुद्रा में लगभग 12 लाख रुपये हो गई थी | बिटकॉइन की बढ़ने की खबर से लाइटकॉइन, IOTA और रिपल जैसी क्रिप्टोकरंसीज की कीमतों में वृद्धि हुई | डिजिटल करंसी बिटकॉइन लिस्ट में टॉप पर है ।

मित्रो,हमने आपको यहाँ भारतीय अर्थव्यस्था की मजबूती के बारे में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है ,तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही रोचक न्यूज़ को जानने के लिए हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करके आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |



Advertisement


Advertisement


No comments:

Post a Comment

If you have any query, Write in Comment Box