विज्ञान भी नहीं बता पाया है ज़िंदगी की इन सच्चाइयों को- क्या आप जानते हैं - Sarkari Naukri Career

Friday, January 5, 2018

विज्ञान भी नहीं बता पाया है ज़िंदगी की इन सच्चाइयों को- क्या आप जानते हैं

विज्ञान भी नहीं बता पाया है ज़िंदगी की इन सच्चाइयों को- क्या आप जानते हैं
हमारे जीवन में अनेक ऐसी चीजे होती है ,जिन्हें हम प्रतिदिन करते है ,परन्तु क्यों करते है ? इसके बारे में बताना अत्यंत कठिन है | आज वर्तमान में मनुष्य ने विज्ञान के क्षेत्र में अत्यधिक खोजे की है ,लेकिन इन बातों के बारें में विज्ञान भी निष्कर्ष नहीं निकल पाया कि ,ऐसा क्यों होता है ? जैसे –हमें नींद में सपने आते है ,क्यों ? विश्व में सभी के फिंगरप्रिंट अलग-अलग  क्यों होते है ? आदि , ऐसे ही कुछ सवालो को इस पेज पर बताने जा रहे है ,जिनका उत्तर आज भी हम खोज नहीं पाये  |


1.क्यों आते है ? नीद में स्वप्न
इस सम्पूर्ण विश्व में सभी जीवधारी नींद अवश्य लेते है ,और नीद में सपने लगभग सभी को आती है | यहाँ प्रश्न उठता है ,नीद में सपने क्यों आते है ? सपनों को लेकर भिन्न- भिन्न लोगो की अनेक प्रकार की मान्यताएं हैं । एक मत के अनुसार सोते समय व्यक्ति की जो मानसिक स्थिति होती है , उसी से संबंधित सपने उसे दिखाई देते हैं । हालांकि,इन सपनो का सच क्या है ये कोई नहीं जानता ।


2.क्यों आती है ? उबासी
प्रत्येक व्यक्ति को उबासी अवश्य आती है ,यह स्वाभाविक होने वाली प्रक्रिया है | ऐसा माना जाता है ,कि नींद आने पर या अधिक थकावट महसूस करने पर उबासी आती है ,और  शरीर की सारी क्रियाए खास तौर से अनैच्छिक हरकतें किसी-न-किसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए होती हैं ,जबकि अल्ट्रासाउण्ड निरीक्षण के दौरान 20 सप्ताह के शिशुओं की गर्भ में उबासियाँ रिकॉर्ड की गई  ।

इससे ऐसा लगता है ,कि उबासी का आना हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है ,और इस पर नियंत्रण कर पाना सम्भव नहीं । यह अनियंत्रित क्रिया सामान्यत: 6 सैकण्ड की होती है जिसके दौरान विभिन्न शारीरिक परिवर्तन होते हैं ,पर ऐसा क्यों होता है ?

3.असंख्य लोगो की फिंगरप्रिंट एक से नहीं होते
सम्पूर्ण विश्व में फिंगरप्रिंट एक ऐसी चीज़ होती है, जो किसी दूसरे व्यक्ति से मैच नहीं करती | एक व्यक्ति के फिंगरप्रिंट  कभी किसी दूसरे व्यक्ति के फिंगरप्रिंट  से मैच नहीं करते , चाहे वह  ट्विन्स क्यों ना हो जिनका डीएनए  भी बिलकुल सेम होता है, लेकिन उनके  फिंगरप्रिंट अलग होते हैं | ऐसा कैसे होता है ?


4.पृथ्वी का कोर सॉलिड है
पृथ्वी के अन्दर 5,000 किलोमीटर नीचे के कोर करोड़ों वर्ष पहले से ठोस अवस्था में आने लगे थे, जिनमे अभी तक लगातार परिवर्तन  जारी है ,और यह परत हर साल 0.55 एमएम मोटी होती जा रही है | इस नये क्रिस्टल की खोज से इस बात का अंदाजा लगाना सहज है कि उनकी उत्पत्ति अलग परिस्थितियों में हुई होगी,लेकिन साइंटिस्ट आज भी इसे सिद्ध नहीं कर पाए ।

5. गुरुत्वाकर्षण होता क्यों है ?
जब हम किसी चीज को ऊपर फेंकते है तो वह नीचे आ जाती है ,क्योंकि हमें ज्ञात है कि, गुरुत्वाकर्षण का बल उस चीज को नीचे खीच लेता है | गुरुत्वाकर्षण बल के नियम बनाये पर पर कोई यह नहीं बता पाया कि, गुरुत्वाकर्षण होता क्यों है ?


6. पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र की शक्तियां
पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र को लेकर कई खोजे हो चुकी हैं । पृथ्वी के गर्भ में तरल लोहा उबल  रहा है । तरल लोहा चुंबकीय शक्ति उत्पन्न  करता है । चुंबकीय क्षेत्र पृथ्वी के उत्तरी ध्रुव से चल कर दक्षिणी ध्रुव की तरफ से निकलता है और उत्तरी ध्रुव पर पहुँचता है ,परन्तु धरती के चुंबकीय क्षेत्र पर इसकी ये शक्ति कहां से आती है, यह आज भी सिद्ध नहीं हो पाया |

7.मौत के बाद हमारा क्या होता है ?
मृत्यु के बाद हमारा क्या होता है ? किस्से कहानियों में हमनें पढ़ा है कि , मृत्यु के पश्चात हमें  दूसरा जीवन मिल जाता है , हम उसे चाहें भी तो उसे टाल नहीं सकते , मौत तब आती है, जब आपके सभी दुखों का अंत हो चुका है , मौत हमें हमारे इस शरीर से मुक्ति दिलाकर एक नई शुरूआत की ओर ले जाती है आदि अनेक प्रकार के सवाल है ,परन्तु आज भी वैज्ञानिक सिद्द नहीं कर पाए कि मृत्यु के बाद क्या होता है |


8.दिमाग में ऐसा क्या है, जिससे हमें नीद आती है
आज तक वैज्ञानिक यह पता नहीं लगा पाए हैं कि नींद में हमारा दिमाग किस तरह काम करता है ,और हमारे दिमाग में ऐसा क्या है ? जिसके कारण हमें नीद आती है | किसी भी जीव के लिए निद्रा आवश्यक है ,परन्तु इसके कारणों का बारे में कुछ नहीं मालूम |

9.हमारे मस्तिष्क में अनेक चीजे स्टोर होती है कैसे ?
इंसान की ‌‌‌दिमाग की मैमोरी काफी आश्चर्यजनक होती है । कई ऐसी जानकारी होती हैं जिनकों हम न चाहकर भी याद कर लेते हैं । जबकि कुछ जानकारी हम चाहकर भी याद नहीं रख पाते । और हमारे दिमागकी मैमोरी की एक और खास बात है कि हम जब किसी सूचना को बार-बार काम मे लेते हैं, तो वह हमारे दिमाग की मैमोरी मे और अधिक स्पष्ट हो जाती है । हमारा दिमाग जिंदगी भर कई चीजों को स्टोर करता और याद दिलाता है । लेकिन ये कैसे होता है ,इसका स्पस्ट जवाब किसी के पास नहीं है ।


मित्रों,यहाँ हमनें आपको कुछ ऐसी चीजो के बारें में बताया ,जिन्हें प्रत्येक व्यक्ति करता है ,परन्तु कारण क्या है ? किसी को नहीं मालूम | यदि इससे सम्बंधितआपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है तो, कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही रोचक न्यूज़ को जानने के लिए हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करके आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |



Advertisement


Advertisement