UPTET Result 2017: प्रमाण पत्र पर लगी रोक - पढ़े पूरी न्यूज़

Wednesday, March 7, 2018

UPTET Result 2017: प्रमाण पत्र पर लगी रोक - पढ़े पूरी न्यूज़

UPTET Result 2017: प्रमाण पत्र पर लगी रोक
टीईटी पास होने वाले अभ्यर्थियों को अब प्रमाण पत्र के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है, क्योंकि परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने टीईटी प्रमाण पत्रों के वितरण पर रोक लगा दी है, प्रमाण पत्रों के वितरण की यह रोक हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ के आदेश के बाद लगायी गयी है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा स्थगित  
हाईकोर्ट उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा बोर्ड द्वारा उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा में उत्तीर्ण छात्रों को प्रमाण पत्र पर रोक लगने के पश्चात  नए वर्ष में आरम्भ होने वाली शिक्षक भर्ती के और लंबा होने की उम्मीद है,हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा को स्थगित करनें के आदेश दिए हैं, इस परीक्षा का आयोजन 12 मार्च को किया जाना था |  हाईकोर्ट ने टीईटी परीक्षा 2017 के परिणाम पुनः घोषित करने के बाद ही लिखित परीक्षा कराने का आदेश दिया है ।


पुनः परीक्षा करने का आदेश
न्यायालय ने अथॉरिटी को 14 विवादित प्रश्नों को हटाते हुए, नए सिरे से परीक्षा परिणाम घोषित करने का आदेश दिया है,  इस कार्य के लिए एक माह का समय देते हुए, परिणाम घोषित करने के बाद ही सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा कराने के भी आदेश दिए गए|  

इसके साथ ही न्यायालय ने आगे के लिए ऐसी स्थितियों में उत्तरमाला पर आपत्ति आने पर उन्हें विशेषज्ञ कमेटी द्वारा जांच करने व आपत्ति सही पाए जाने पर सम्बंधित प्रश्न को हटाकर मूल्यांकन करने के आदेश दिए ।


पूरी परीक्षा को घोषित किया जा सकता है- शून्य
न्यायालय ने सम्बंधित अथॉरिटी के इतनी बड़ी परीक्षा को प्रभावी न मानते हुए हुए कहा कि, अथॉरिटी के गैर-गम्भीर रुख के कारण पूरी परीक्षा ही शून्य घोषित की जा सकती है, लेकिन लाखों अभ्यर्थी टीईटी परीक्षा में शामिल हुए और हजारों ने परीक्षा पास कर ली है, लिहाजा यह सफल अभ्यर्थियों के लिए उचित नहीं होगा,  हम इसे अपवादजनक स्थिति की देखते हुए, परीक्षा परिणाम में हस्तक्षेप कर रहे हैं ।


पर्यावरण अध्ययन में पूछ लिया संविधान का प्रश्न
न्यायालय ने सुनवाई के दौरान पाया, कि पर्यावरण अध्ययन विषय की परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों में से चार प्रश्न ऐसे पाए गये,  जो संविधान या इंटरनेशनल अफेयर्स से पूछे गए थे, न्यायालय ने जिन प्रश्नों को हटाने को कहा है, उनमें क्वेश्चन बुकलेट 'सी' के आठ प्रश्न जिनके क्रमांक 16, 18, 26, 32, 123, 126, 131 व 146 हैं, साथ ही संस्कृत विषय के दो प्रश्न क्रमांक 61 व 80 और पर्यावरण अध्ययन के चार प्रश्न 121, 133, 140 व 150 शामिल हैं, न्यायालय ने इन प्रश्नों के जवाब को या तो गलत पाया है, या एक से अधिक विकल्प सही होना पाया है, अथवा सिलेबस के बाहर का पाया गया है ।

यहाँ आपको हमनें टीईटी प्रमाण पत्रों के वितरण पर रोक लगाये जाने के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |



Advertisement


Advertisement