आर्टिफिशल इंटेलिजेंस मे है सम्भावनाये और नौकरी अपार - पढ़े पूरी स्टोरी - Sarkari Naukri Career

Monday, April 9, 2018

आर्टिफिशल इंटेलिजेंस मे है सम्भावनाये और नौकरी अपार - पढ़े पूरी स्टोरी


आर्टिफिशल इंटेलिजेंस मे है सम्भावनाये और नौकरी अपार 
आजकल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस शब्द काफी प्रचलित होता जा रहा है, क्योंकि इसका उपयोग छोटे क्षेत्रो से बड़े-बड़े उद्योगों तक बढ़ता जा रहा है, देश में आर्टिफिशल इंटेलिजेंस से नौकरी की संख्या में क्या परिवर्तन होगा ? इस विषय में देश की पहली आर्टिफिशल इंटेलिजेंस से जुड़ी नीति शीघ्र ही देश के समक्ष प्रस्तुत होगी, क्योंकि इसके लिए गठित कमेटी नें नीति को अंतिम रूप दे दिया है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |



क्या है ? आर्टिफिशल इंटेलिजेंस
आर्टिफिशल इंटेलिजेंस को हम हिंदी में कृत्रिम मशीन कहते है,अर्थात जिसमें स्वयं में  सोचनें की क्षमता हो, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक ऐसा मार्ग है, जिसके माध्यम से हम, सोचनें  वाले कंप्यूटर, कंप्यूटर कंट्रोल रोबोट, जो हमारी तरह सोंच सकते हो, इन्हें निर्मित कर सकते है, यह  कमप्यूटर साइंस की एक भाषा है, जो कंप्यूटर सिस्टम के क्रिएशन तथा पढ़ाई से संबंधित है |


जिस प्रकार हमारे अन्दर इंटेलिजेंस पावर होती है, परन्तु वह हमारे अंदर अपने आप बढ़ती है, कुछ देख कर, कुछ समझ कर, कुछ टच करके तो कुछ सुन कर हम यह समझ जाते है, कि किस चीज़ के साथ कैसा व्यवहार करना है ?, ठीक उसी प्रकार से रोबोट के अंदर भी एक तरह का इंटेलिजेंस विकसित किया जाता है, जिसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कहते है ।


आर्टिफिशल इंटेलिजेंस पर रिसर्च
सरकार नें आर्टिफिशल इंटेलिजेंस की और ध्यान आकर्षित किया है, क्योंकि आर्टिफिशल इंटेलिजेंस को इस वर्ष आम बजट में देश में पहली बार सम्मिलित किया गया है, सरकार नें इसे बढ़ावा देने के उद्देश्य से पीएम रिसर्च फैलोशिप के अंतर्गत, एक हजार छात्रों द्वारा आईआईटी और आईआईएससी में रिसर्च करेंगे, रिसर्च फैलोशिप के लिए आईआईटी, एनआईटी, ट्रिपल आईटी और आईसीएसएसआर से बीटेक कर रहे फाइनल ईयर के छात्रों में से टैलेंटेड छात्रों को चुना जाएगा | आर्टिफिशल इंटेलिजेंस में सरकार रिसर्च, पढ़ाई और नवाचार चाहती है |



देश में रिसर्च पर निवेश
नीति आयोग द्वारा 12 सदस्यों की एक्सपर्ट की टीम का गठन किया गया था, जो लगभग दो माह से कार्य कर रही थी, नीति आयोग नें दावा किया, कि इस नीति के आने के पश्चात अनेक विधाएं सामने आएंगी, जिससे नौकरियां बढ़ेगी, नीति आयोग की एक रिपोर्ट के अनुसार, देश में रिसर्च पर सबसे कम निवेश हो रहा था, जबकि आर्टिफिशल इंटेलिजेंस पर भारत ने विश्व में सबसे अधिक रिसर्च करनें की योजना बनायीं है, जिस पर लगभग एक हजार करोड़ से अधिक व्यय किया जायेगा ।

Read: सॉफ्टवेयर इंजीनियर (SOFTWARE ENGINEER) कैसे बने

Read: देश के जाने माने पॉलिटेक्निक Colleges की सूची

आर्टिफिशल इंटेलिजेंस में जॉब रोल्स
1.गेम प्रोग्रामर |
2.रोबोटिक्स सांइटिस्ट |
3.कंप्यूटर सांइटिस्ट |
4.सॉफ्टवेयर इंजीनियर |

Read: भारत के प्रमुख शोध-संस्थान

Read: कैसे करे IIT के लिए तैयारी - जानिये

भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कोर्स के प्रमुख विश्वविद्यालय
1.आईआईएससी, बैंगलोर |
2.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बॉम्बे |
3.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर |
4.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, हैदराबाद |
5.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान,मद्रास |

Read: हमारे भारत में कितने (IIT) आई0 आई0 टी0 संस्थान है ?

विदेशों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कोर्स के प्रमुख विश्वविद्यालय
1.यूनिवर्सिटी ऑफ साउथर्न कैलिफोर्निया |
2.यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया |
3.कैलिफोर्निया इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी |
4.न्यू जर्सी इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी |

Read: इंजीनियरिंग परीक्षा में होने जा रहा बड़ा बदलाव

यहाँ आपको हमनें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस नौकरी की संभावनाओं के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न या विचार आ रहा है, तो कमेंट बाक्स का प्रयोग कर पूँछ सकते है | हम आपके द्वारा दी गई प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहें है |

ऐसे ही जानकारी प्राप्त करनें के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |

Read: इंजिनियरिंग की तरफ रुझान कम, साइंस की बढ़ी मांग ऐसा क्यों हो रहा है 

Read: UPSEE 2018: UPTU में MBA का घटता क्रेज

Read: नौकरी चाहने वाले के लिए रहेगा साल 2018 बेहतर


Advertisement


Advertisement