Tuesday, April 24, 2018

फिजियोथेरेपी डिग्री कोर्सों में योग डिप्लोमा धारी छात्रों के लिए नया नियम -आप भी जान ले


फिजियोथेरेपी डिग्री कोर्सों में योग डिप्लोमा धारी छात्रों के लिए नया नियम 
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अर्थात यूजीसी नें योग का डिप्लोमा रखने वालों को फिजियोथेरेपी के डिग्री पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने के लिए प्राथमिकता देनें का निर्णय लिया है, यूजीसी के आदेश के अनुसार, योगा में कम से कम एक वर्ष का डिप्लोमा रखने वाले अभ्यर्थियों को प्रवेश प्रक्रिया में प्राथमिकता दी जाएगी, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है | 


योग में डिप्लोमा वाले छात्रों को प्राथमिकता
यूजीसी नें योग में एक वर्ष तक का डिप्लोमा रखने वालों को फिजियोथेरेपी के स्नातक पाठ्यक्रमों के प्रवेश में प्राथमिकता देने का निर्णय लिया है, आयोग नें इस संबंध में सभी विश्वविद्यालय और कालेजों को आदेश भी जारी किया है,  यूजीसी नें यह निर्देश योग को बढ़ावा देने को लेकर गठित विशेषज्ञ कमेटी की सिफारिश के बाद दिया|

कमेटी नें हाल ही में विश्वविद्यालय और कालेजों में फिजियोथेरेपी के स्नातक कोर्स में योग में डिप्लोमा रखने वालों को प्रवेश देने का प्रस्ताव दिया था, जिसे आयोग नें स्वीकार करते हुए मानव संसाधन विकास मंत्रालय से स्वीकृति मांगी थी, हाल ही में इस स्वीकृति  के मिलने के बाद यूजीसी नें यह निर्देश जारी कर दिए है ।


यूजीसी द्वारा जारी निर्देश
यूजीसी द्वारा जारी निर्देशों में स्पष्ट किया है, कि योग में डिप्लोमा रखने वालों को यह सुविधा सिर्फ विश्वविद्यालय और कालेजों में चलाए जाने वाले फिजियोथेरेपी कोर्स में प्रवेश को लेकर ही मिलेगी, इसके लिए प्रवेश के इच्छुक छात्रों को प्रवेश प्रक्रिया के अंतर्गत, योग में डिप्लोमा होने की जानकारी देनी होगी, इसके आधार पर ही छात्रों की मेरिट तैयार की जाएगी,  यूजीसी नें कहा, कि इस दौरान प्रवेश प्रक्रिया में कोई परिवर्तन नहीं होगा ।


यहाँ आपको हमनें योग का डिप्लोमा रखने वाले छात्रों को फिजियोथेरेपी के डिग्री पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु प्राथमिकता दिए जाने के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |

Read: दूरस्थ शिक्षा वाली डिग्री भी रेगुलर के बराबर मानी जा सकती है

Advertisement


Advertisement