अब स्टूडेंट करेंगे शिक्षकों का रिपोर्ट कार्ड तैयार-पढ़े पूरी न्यूज़

Saturday, April 14, 2018

अब स्टूडेंट करेंगे शिक्षकों का रिपोर्ट कार्ड तैयार-पढ़े पूरी न्यूज़


अब स्टूडेंट करेंगे शिक्षकों का रिपोर्ट कार्ड तैयार 
शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने को लेकर विश्वविद्यालय स्तर पर अब एक नई शुरुआत होने जा रही है, अब विद्यार्थी शिक्षकों का रिपोर्ट कार्ड तैयार करेंगे, और इसमें वह शिक्षक ही उत्तीर्ण होंगे,  जो अपनी कक्षाओं में नियमित रूप से उपस्थित रहेंगे और सुचारू रूप से पढ़ाएंगे, इसके लिए एक पोर्टल तैयार किया गया है, जिसके  माध्यम से विवि के विभिन्न कोर्सों के विद्यार्थियों से शिक्षकों का फीडबैक लिया जाएगा, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बात रहें है |


शिक्षकों का रिपोर्ट कार्ड                                                          
विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के शिक्षण कार्य से सम्बन्धित जानकारी हेतु विद्यार्थियों के लिए फीडबैक पोर्टल तैयार किया गया है,  इस फीडबैक पोर्टल से विवि के विभिन्न पाठ्यक्रमों के विद्यार्थियों से शिक्षकों का विवरण लिया जाएगा, शिक्षकों से सम्बंधित यह विवरण, पोर्टल पर एक फॉर्म के माध्यम से लिया जायेगा, जिसमें विद्यार्थी कोर्स, सत्र तथा शिक्षक का नाम अंकित करना होगा,  इसके बाद उनकी रैंकिंग की जाएगी, जिन शिक्षकों की रैंकिंग निरंतर कमीं पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी ।

विश्वविद्यालय के डीन होंगे- प्रमुख
आईटी के डीन प्रो आरए खान को विवि स्तर पर पोर्टल को तैयार करने की जिम्मेदारी दी गयी है, इस पोर्टल को वेबसाइट पर शीघ्र ही ऑनलाइन कर दिया जाएगा, पोर्टल पर उपलब्ध फार्म, सभी छात्रों द्वारा भरा जायेगा, इसके पश्चात प्रत्येक विभाग के डीन प्रत्येक  शिक्षक की परफॉर्मेंस का रिव्यू फीडबैक फॉर्म के आधार पर किया जायेगा और इसकी रिपोर्ट बनाकर वीसी को भेज दी जाएगी |


फॉर्म में 14 पॉइंट
पोर्टल पर फार्म में 14 पॉइंट होंगे, जिसमें व्यवहार, टीचिंग टेक्निक, क्वॉलिटी ऑफ टीचिंग, मोड ऑफ टीचिंग, कक्षा में उपस्थिति से सम्बंधित एक्सिलेट, वेरी गुड, गुड, ऐवरेज और पुअर आदि के विकल्पो पर टिक करना होगा, यह फार्म मात्र पांच मिनट में भरा जा सकेगा |

छात्र निडरता से करें रैंकिंग
छात्रों द्वारा रैंकिंग निडरता से की जा सके, इसलिए छात्रों की पहचान गुप्त रखी जाएगी, जैसे ही फार्म सबमिट होगा, उसकी सभी डिटेल्स लॉक कर दी जाएँगी, जिसके कारण, यह जानना संभव नहीं होगा, कि किस छात्र ने क्या रैंकिंग की है |


रैंकिंग में सुधर हेतु आवश्यक कदम
विश्वविद्यालय की रैंकिंग में निरंतर स्तर कम होनें के कारण यह कदम उठाया गया है, नैशनल इंस्टिट्यूशन फॉर रैंकिंग फ्रेमवर्क में दो वर्ष पहले बीबीएयू टॉप 100 में था, जबकि पिछले दो वर्ष की रैंकिंग में बाहर हो गया, ऐसे में विवि का ए ग्रेड बना रहे और अन्य रैंकिंग में सुधार किया जा सके |


यहाँ आपको हमनें विश्वविद्यालय स्तर पर छात्रों द्वारा शिक्षकों का रिपोर्ट कार्ड तैयार करनें के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |

Read: CURRENT LIST OF UGC APPROVED UNIVERSITIES IN INDIA (UPDATED)
 

Advertisement


Advertisement