UP Board Result 2018: रिजल्ट से पहले ही इंटर के इतने लाख छात्र फेल- जाने पूरी न्यूज़ - Sarkari Naukri Career

Monday, April 16, 2018

UP Board Result 2018: रिजल्ट से पहले ही इंटर के इतने लाख छात्र फेल- जाने पूरी न्यूज़


UP Board Result 2018: रिजल्ट से पहले ही इंटर के इतने लाख छात्र फेल 
यूपी बोर्ड दसवीं और बारहवीं के छात्र परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे हैं, परीक्षा परिणाम अप्रैल के अंतिम सप्ताह में जारी किया जाएगा, परन्तु परिणाम जारी होने से पूर्व ही बारहवीं के चार लाख से अधिक छात्र फेल बताए जा रहे हैं,  प्राप्त जानकारी के अनुसार, इंटर के 4,69,279 छात्र फेल हो गए हैं, इन छात्रों नें बीच में परीक्षा छोड़ दी थी, यूपी बोर्ड नियमों के अनुसार, एक विषय में फेल होने वाले छात्र को अनुत्तीर्ण माना जाता है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बात रहें है |


इंटरमीडिएट में अनुउत्तीर्ण छात्र 
यूपी बोर्ड का परीक्षा परिणाम आनें से पूर्व इंटरमीडिएट के 4.69 लाख छात्र फेल हो चुके हैं, ये सभी विद्यार्थी किसी न किसी विषय की परीक्षा में अनुपस्थित हुए है,  बोर्ड के नियमों के अनुसार, अब इनके पास पुनः परीक्षा देने के अतिरिक्त अन्य कोई विकल्प नहीं है, अनुउत्तीर्ण छात्रों में सबसे अधिक छात्र 25,713 आजमगढ़ से हैं ।


यूपी बोर्ड की परीक्षा के लिए 66,37,018 परीक्षार्थी पंजीकृत थे,  इनमें हाई स्कूल में 36,55,691 और इंटरमीडिएट परीक्षा में सम्मिलित होनें वाले परीक्षार्थियों की संख्या 29,81,327 थी,  हालांकि परीक्षा से पूर्व  कागजों की जांच में अनियमितता मिलनें पर लगभग 88 हजार परीक्षार्थियों के फॉर्म निरस्त कर दिए गए थे, जबकि 11,29,786 परीक्षार्थियों नें बीच में परीक्षा छोड़ दी थी,  इनमें हाई स्कूल के 6,60,507 और इंटरमीडिएट के 4,69,279 परीक्षार्थी सम्मिलित  हैं ।


हाई स्कूल में है- अवसर 
बोर्ड के नियमों के अनुसार हाईस्कूल की परीक्षा में अनुपस्थित छात्रों के समक्ष उत्तीर्ण होने के अन्य विकल्प है,  ऐसे छात्र जो पांच विषयों में पास हैं, उन्हें एक विषय में इम्प्रूवमेंट देने का विकल्प है, जबकि दो विषयों में फेल छात्रों को एक विषय में कम्पार्टमेंट देने का अवसर प्राप्त होता है,  यदि इसके बाद वह पांच विषयों में उत्तीर्ण हो जाता है, तो उसे पास माना जाएगा ।


इंटरमीडिएट में नियम
इंटरमीडिएट में किसी एक विषय में फेल होने पर छात्र को फेल माना जाता है, उनके पास इस सत्र में पास होने के लिए कोई दूसरा विकल्प नहीं है,  इसलिए इंटरमीडिएट के 469279 अनुपस्थित परीक्षार्थियों के पास अब उत्तीर्ण होने का कोई विकल्प नहीं है, और वह परिणाम आने से पूर्व ही फेल हो गए है,  इनमें सबसे अधिक 25713 छात्र आजमगढ़ से हैं ।


यहाँ आपको हमनें यूपी बोर्ड के परीक्षा परिणाम से पहले ही इंटर के फेल होनें वाले छात्रों के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही अनेको जानकारी के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |

Read: यूपी बोर्ड परिणाम 2018: माता-पिता बच्चो को क्या दे सलाह - चिंता और तनाव से निपटने के लिए


Advertisement


Advertisement