नीट काउन्सलिंग में अगर सीट ब्लॉक की तो देना पड़ सकता है जुर्माना -पढ़े पूरी न्यूज़ - Sarkari Naukri Career

Wednesday, December 20, 2017

नीट काउन्सलिंग में अगर सीट ब्लॉक की तो देना पड़ सकता है जुर्माना -पढ़े पूरी न्यूज़


नीट काउन्सलिंग में अगर सीट ब्लॉक की तो देना पड़ सकता है जुर्माना -पढ़े पूरी न्यूज़

एनईईटी एक राष्ट्रीय स्तर की मेडिकल प्रवेश परीक्षा हैं | इस परीक्षा के माध्यम से छात्रों को एमबीबीएस और बीडीएस पाठ्यक्रम में प्रवेश दिया जाता हैं | एनईईटी को सर्वप्रथम वर्ष 2013 में आयोजित किया गया था | छात्रों को एमबीबीएस और बीडीएस चिकित्सा कॉलेज में प्रवेश प्राप्त करने हेतु एनईईटी परीक्षा में पास होना अनिवार्य होता है | 




हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) द्वारा एक प्रस्ताव के अनुसार मेडिकल और डेन्टल कॉलेजों में एडमिशन हेतु नीट काउन्सलिंग में एक बार सीट ब्लॉक करने के बाद अगर सीट छोड़ी तो 2 लाख रुपये का जुर्माना देने के प्रावधान को लागू करने की सिफारिश की गयी है , इसके बारे में आपको विस्तार से इस पेज पर बता रहे है |

Read: कैसे करे बिना कोचिंग के Competition Exam की तैयारी - जानिये

सीट ब्लाक करने पर क्या होगा
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने मेडिकल कॉलेजों में छात्रो के प्रवेश में 25 हजार रु०रजिस्टेशन हेतु जमा करना अनिवार्य कर दिया गया ,प्रवेश लेने पर इस राशि को समायोजित कर लिया जायेगा ,जबकि प्रवेश ना लेने की स्थिति में रजिस्टेशन फीस वापस ना करने का नियम लागू किया गया है | 

नीट काउंसिलिंग में सीट ब्लॉक करने अथवा प्रवेश ना लेने के पश्चात 2 लाख रुपये का जुर्माना देने के प्रावधान को लागू करने की सिफारिश की गयी है , केंद्र सरकार द्वारा इस प्रक्रिया को लागू करने से छात्रों द्वारा एक से अधिक सीट ब्लॉक किए जाने से होने वाली वैकेंसी को कम करना है ।


ऐसी प्रक्रिया लागू करने का कारण
छात्रों द्वारा काउन्सिलिंग में एक से अधिक सीटो में स्वीकृति देने पर कम रैंक प्राप्त करने वाले छात्रों को प्रवेश नहीं प्राप्त होता है ,जबकि दो स्थानों पर सीट का चयन करने के पश्चात छात्र द्वारा एक सीट पर प्रवेश प्राप्त किया जाता है ,जिससे एक सीट पर किसी अभ्यर्थी का चयन नहीं किया जाता ,और वह सीट व्यर्थ हो जाती है | इस प्रकार की व्यर्थ सीटो के उपयोग हेतु इस प्रक्रिया को लागू करने की सिफारिश की गयी है |

                                        

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार काउंसिलिंग के किस राउंड में छात्रों पर जुर्माना लगेगा या उन्हें आगे की काउंसिलिंग से रोका जाएगा , इस प्रपोजल को एक निरीक्षण समिति को हस्तांतरित किया गया है, जिसे एमसीआई के कामकाज की देख-रेख हेतु गठित किया गया है ,यदि सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस प्रस्ताव को स्वीकार किया जाता है ,तो छात्रों द्वारा सीट ब्लॉक करने की समस्या से बचाया जा सकेगा ।

Read: नर्सिंग में कैसे बनाये करियर जानिए

नीट काउन्सलिंग में अगर सीट ब्लॉक की तो देना पड़ सकता है जुर्माना के बारे में बताया गया है ,यदि इससे सम्बंधित कोई प्रश्न आ रहा है तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूछ सकते है | हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहे है |

यदि आप इस तरह की और भी अनेको जानकरियाँ पाना चाहते है तो हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करें | जहाँ पर आपको डेली करंट अफेयर , आर्टिकल , नौकरी सम्बन्धी तथा करियर के बारे में जानकारियाँ मिलेंगी | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो ,तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |

Advertisement


Advertisement