फैशन डिज़ाइनर (Fashion-Designer) कैसे बने - जाने पूरी जानकारी (हिंदी में ) - Sarkari Naukri Career

Friday, January 12, 2018

फैशन डिज़ाइनर (Fashion-Designer) कैसे बने - जाने पूरी जानकारी (हिंदी में )

फैशन डिज़ाइनर (Fashion-Designer) कैसे बने - जाने पूरी जानकारी (हिंदी में )
किसी पार्टी ,शादी आदि में जाने से पहले हम ख़ूबसूरत तथा नए डिजाईन के कपड़ो का प्रयोग करते है |  फैशन ने आज ग्लोबल स्तर पर लोगों के जीवन को पूरी तरह से बदल दिया है | फैशन डिजाईनिंग के बढ़ते ट्रेंड ने आज युवाओं को इस क्षेत्र में करियर बनानें हेतु आकर्षित कर रहा है | 

यदि आप फैशन की दुनिया में क़दम रखना चाहते हैं, तो फैशन डिजाईनिंग आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है | फैशन डिजाईनिंग में करियर बनाने के लिए शुरुआत कैसे करें ? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


कैसे करें शुरुआत
फैशन डिजाइनिंग के क्षेत्र में रूचि रखनें वाले छात्रों के लिए 12वीं की शिक्षा किसी भी स्ट्रीम से पूरी करें और उसके बाद फैशन डिजाइनिंग संस्थानों की ओर से ली जाने वाली प्रवेश परीक्षा की तैयारी करें। हमारे देश में अनेक ऐसे शिक्षण संसथान है ,जिसमें छात्रों को फैशन डिजाइनिंग से सम्बंधित पाठ्यक्रम कराये जाते है | पाठ्यक्रम के दौरान छात्र न सिर्फ कपड़ों को अलग-अलग रूप-रंग और आकार में पहनने लायक बनाने के बारे में बताया जाता है , बल्कि उन्हें नए डिजाइन्स के लिए कॉन्सेप्ट तैयार करना, फैशन के बाजार, ग्राहक की पसंद, गार्मेट मेन्युफैक्चरिंग और तकनीकी बारीकियों के बारे में भी सिखाया जाता है ।


पाठय़क्रम
आज का युग फैशन युग है | इन दिनों फैशन डिजाइनिंग में कई डिप्लोमा व डिग्री कोर्स हैं । इनमें कुछ ट्रेडिशनल है ,और कुछ वर्तमान समय की मांग को देख कर तैयार किए गए नए कोर्स  हैं । विभिन्न संस्थानों ने 3 से 4 वर्षीय ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स व पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स उपलब्ध कराए हैं |



बी. डिजाइन इन फैशन डिजाइन
1.बेचलर डिग्री इन फैशन डिजाइनिंग एंड टेक्सटाइल डिजाइनिंग|

2.बी.एससी. इन फैशन एंड अपैरल डिजाइन |

3.एम.ए. डिजाइन फैशन एंड टेक्सटाइल |

4.डिप्लोमा इन डिजाइन |

5.पीजी. डिप्लोमा इन डिजाइन |

आज कल फैशन डिजाइनिंग के अतिरिक्त फैशन कम्युनिकेशन कोर्स भी छात्रों को अधिक पसंद आ रहें है । इस पाठ्यक्रम के अंतर्गत छात्रों को अपैरल डिजाइनिंग और गार्मेट मैन्युफैक्चरिंग को छोड़ कर फैशन जगत की पूरी जानकारी दी जाती है, जिसमें फोटोग्राफी, ग्राफिक्स डिजाइनिंग, स्टाइलिंग, विजुअल मर्चेडाइजिंग आदि के बारें में बताया जाता है ।


करियर में संभावनाएं
1.बडे-बडे फैशन डिजाइनरों के फैशन हाउसेज में कार्य करने का अवसर |

2.गार्मेट व टेक्सटाइल एक्सपोर्ट हाउस में नौकरी की संभावना|

3.एक्सक्लुसिव एवं ब्रांडेड फैशन शोरूम्स का कारोबार |

4.समाचार पत्रों, पत्रिकाओं, वेब पोर्टल्स और टेलीविजन में फैशन जर्नलिस्ट |

5.फैशन पीआर प्रोफेशनल्स |

6.फैशन ब्रांड मैनेजर |

7.फैशन ईवेंट डिजाइनर |

8.रिटेल मर्चेडाइजर |

9.फैशन कंस्लटेंट |

इसके अतिरिक्त फैशन ग्रेजुएट अपना स्वयं का कारोबार खोल सकता है ,जो कि फैशन डिजाइनिंग में एक बेहतर विकल्प है |


पाठ्यक्रम की फीस
नेशनल इंस्टीटय़ूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी जैसे संस्थानों में जहां डिजाइनिंग पाठय़क्रम की फीस सालाना 1.2 लाख रुपये है, वहीं प्राइवेट इंस्टीटय़ूट्स में फैशन डिजाइनिंग से जुडे पाठय़क्रमों की फीस सालाना 2.5 लाख रुपये से शुरू होती है । यह फीस अधिकतर प्रति सत्र ली जाती है ।यह कोर्स दिल्ली के अलावा बेंगलुरू, हैदराबाद, कांगड़ा और मुंबई सेंटर्स में उपलब्ध है ,और उद्योग की मांग को ध्यान में रखते हुए भविष्य में इसे और सेंटर्स से भी शुरू करने की योजना है ।


एजुकेशनल लोन
इस प्रकार के पाठ्यक्रम करने हेतु सरकारी व गैर-सरकारी दोनों प्रकार के बैंक, प्रोफेशनल व वोकेशनल कोर्सेज के अंतर्गत  फैशन डिजाइनिंग में डिग्री कोर्सेज के लिए भारत में 10 लाख रुपये तक व विदेश में शिक्षा के लिए 30 लाख रुपये तक का लोन उपलब्ध  कराते हैं ।

प्रारंभिक वेतन
फैशन डिजाइनर बनने के पश्चात ,यदि आप किसी कंपनी, किसी डिजाइनर को असिस्ट करना शुरू करते हैं ,तो आप 15 हजार रुपये मासिक वेतन प्राप्त कर सकते हैं । स्वयं के कारोबार में कमाई आपके काम करने के तरीके और क्लाइंट्स पर निर्भर है ।


720 करोड़ रुपये का है भारतीय फैशन उद्योग जगत
भारतीय फैशन उद्योग लगभग 2.7 लाख करोड़ रुपये का है, जिसमें से लगभग 1.62 लाख करोड़ रुपये के गार्मेट सिर्फ भारत में ही प्रयोग होते हैं, जबकि शेष निर्यात किया जाता है ।

फैशन जगत की कुछ रिपोर्टो के मुताबिक वर्ष 2020 में यह बाजार प्रतिवर्ष लगभग 13 से 15 फीसदी की विकास दर के साथ बढ़ कर 6.75 लाख करोड़ रुपये तक हो जाएगा । पिछले साल के मुकाबले इस साल की पहली तिमाही, अप्रैल से जून में रेडीमेड वस्त्रों के कारोबार में 10 फीसदी की दर से विकास हुआ है ।


पाठ्यक्रम संचालित करने वाले संस्थान
1. नेशनल इंस्टीटय़ूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी |
www.nift.ac.in

2.पर्ल एकेडमी ऑफ फैशन, दिल्ली |
www.pearlacademy.com

3.वोग इंस्टीटय़ूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, बेंगलुरू |
www.voguefashioninstitute.com

4.स्कूल ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, पुणे |
www.softpune.com

5.सिम्बायोसिस इंस्टीटय़ूट ऑफ डिजाइन, पुणे|
www.sid.edu.in

6.नॉर्दर्न इंडिया इंस्टीटय़ूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, मोहाली |
www.niiftindia.com

7.जे.डी इंस्टीटय़ूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, दिल्ली |
www.jdinstitute.com

8.नेशनल इंस्टीटय़ूट ऑफ फैशन डिजाइन |
www.nifd.net


मित्रों,यहाँ आपको हमनें फैशन डिजाइनर बननें के बारे में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |
ऐसे ही रोचक न्यूज़ को जानने के लिए हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करके आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |


Advertisement


Advertisement



Get Free Job Alert On Mobile


Advertisement



सरकारी नौकरी पाने के लिए नीचे दिए बटन को लाइक करे

0 comments:

Post a Comment





Subscribe for Job alerts

Please check your inbox to get your email verify.

TOP