Thursday, March 8, 2018

8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता हैं अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस- आप भी जाने


8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता हैं अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को पूरे विश्व में मनाया जाता है, यह दिन सभी महिलाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि  इस दिन महिलाओं  को  उनके कार्यों की सराहना करके और उनके लिये प्यार व सम्मान और उनकी सभी उपलब्धियों की सराहना करने और याद करने के लिये अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को एक उत्सव के रूप में मनाया जाता है, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता है ? इसके बारे में आपको इस पेज पर विस्तार से बात रहें है |








8 मार्च को क्यों मनाया जाता है, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 

वर्ष 1908 में 15000 महिलाओ ने न्यूयॉर्क सिटी में वोटिंग अधिकारों की मांग के लिए, काम के घंटे कम करने के लिए और वेतन में वृद्धि करनें के लिए मार्च निकाला था, और एक वर्ष बाद अमेरिका की सोशलिस्ट पार्टी की घोषणा के अनुसार, 1909 में यूनाइटेड स्टेट्स में पहला राष्ट्रीय महिला दिवस 28 फरवरी मनाया गया था, वर्ष 1910 में जर्मनी की सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी की महिला ऑफिस की लीडर ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का विचार रखा, और उन्होंने सुझाव दिया, कि  महिलाओं  को अपनी मांगो को आगे बढानें के लिए विश्व के प्रत्येक देश में अंतराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाना चाहिए |

एक कांफ्रेंस में 17 देशो की 100 से अधिक  महिलाओं नें इस सुझाव पर सहमति जताई और अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की स्थापना हुई, इस समय इसका प्रमुख उद्देश्य महिलाओं को वोट का अधिकार दिलवाना था, 19 मार्च 1911 को पहली बार आस्ट्रिया डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में  अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया, और वर्ष 1913 में इसे ट्रांसफर कर 8 मार्च कर दिया गया था, उस समय से प्रत्येक वर्ष अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को मनाया जाता है |








अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का सिम्बल

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का दिन किसी समुदाय या जाति के लिए नहीं, बल्कि प्रत्येक उस महिला के नाम होता है, जिन्होंने समाज में अपनें अधिकारों को प्राप्त करनें के लिए अपनी पहचान बनाई है । अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का आफिशल सिम्बल वीनस है, इस सिम्बल को बैंगनी रंग के साथ उन सभी महिलाओं की तस्वीरों के साथ सजाया जाता है, जिन्होंने अपने जीवन में संघर्ष कर समाज में एक नई मिसाल पेश की है, इस दिन के लिए बैगनी रंग को चुने जाने के पीछे का मुख्य कारण यह रंग गरिमा और न्याय का प्रीतक माना जाता है ।





यहाँ आपको हमनें अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |





Advertisement


Advertisement