Saturday, March 24, 2018

One Nation One Exam- क्या है ये सब कुछ जाने यहाँ

One Nation One Exam- क्या है ये सब कुछ जाने यहाँ 
प्रतियोगी छात्रों के मध्य आज कल, आम पात्रता परीक्षा अर्थात सीईटी को लागू करनें के सम्बन्ध में अनेक चर्चाएँ चल रही है, भारत सरकार द्वारा 14 मार्च 2018 को राज्य सभा में एक विधेयक का प्रस्ताव किया है, जिसमें समूह बी की विभिन्न रिक्तियों के लिए अभ्यर्थियों को चयनित करनें के लिए आम पात्रता परीक्षा का अनुरोध किया गया है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


COMMON ELIGIBILITY TEST (CET ) ONE EXAM FOR ALL GOVERNMENT JOBS 

आम पात्रता परीक्षा (सीईटी )
सीईटी की आगामी वर्ष से लागू किया जायेगा, प्रतियोगी परीक्षाओं को अत्यधिक पारदर्शी बनाने के लिए, केंद्र सरकार पूरे देश के सभी अभ्यर्थियों के लिए एक आम पात्रता परीक्षा (सीईटी) का आयोजन कर रही है, जिससे परीक्षा में आने वाली समस्याओं, और परीक्षा निरस्त होने से बचा जा सकेगा | एसएससी जैसी परीक्षाओं में अनेक प्रकार की समस्याओं के कारण कई बार निरस्त करना पड़ता है |

जिसका प्रभाव छात्रों के साथ-साथ सरकार पर पड़ता है,आवेदन करनें वाले अभ्यर्थी को एक ही परीक्षा के लिए कई बार आवेदन करना पड़ता है, साथ ही परीक्षा शुल्क भी सीईटी के लागू होने से इस प्रकार की कोई समस्या नहीं होगी, सीईटी विभिन्न सरकारी परीक्षाओं जैसे, कि एसएससी, बैंकिंग, रेलवे और 2019 से आगे की परीक्षाओं के लिए आयोजित किया जायेगा ।


सीईटी के लिए पंजीकरण अनिवार्य
संशोधित प्रणाली के अंतर्गत प्रक्रिया प्रारंभ करने के लिए,  अभ्यर्थी को राष्ट्रीय कैरियर सेवाएं (एनसीएस), श्रम और रोजगार मंत्रालय के आधिकारिक साइट पर पंजीकृत करना होगा,इसके पश्चात आपको एक यूनिक आईडी प्राप्त होगी |

सीईटी का आयोजन तीन चरणों में
1.हाईस्कूल स्तर पर |

2.इंटरमीडिएट स्तर पर |

3.स्नातक स्तर पर |

वर्ष 2019 में इस परीक्षा का आयोजन स्नातक स्तर पर किया जायेगा, स्नातक स्तर पर पूर्ण रूप से सफलता प्राप्त करनें के पश्चात अन्य शेष स्तरों पर परीक्षा का आयोजन प्रारंभ कर दिया जायेगा |


आम पात्रता परीक्षा (सीईटी) के लाभ       
1.सीईटी के लागू होने से छात्रों को सभी आवेदन फार्म भरनें की आवश्यकता नहीं होगी,अभ्यर्थी को सिर्फ, सीईटी में एक बार परिश्रम करके एक अच्छा स्कोर बनाना होगा,और किसी भी छात्र को एसएससी, रेलवे, बैंक के प्री परिक्षाएं नहीं देनी होगी |

2.छात्रों द्वारा एक बार अच्छा स्कोर प्राप्त करनें के पश्चात यह दो वर्षो के लिए मान्य होगा |

3.छात्रों द्वारा प्राप्त स्कोर के आधार पर सरकारी क्षेत्रों के साथ-साथ निजी कंपनी द्वारा हायर किया जा सकता है |

आम पात्रता परीक्षण से हानि
1.यदि छात्र किसी कारणवश सीईटी परीक्षा में सम्मिलित नहीं हो पाते है, तो छात्रों को आगामी परीक्षा तक इंतजार करना पड़ेगा, जबकि अभी यह निश्चित नहीं हुआ है, कि यह परीक्षा वर्ष में कितने बार आयोजित की जाएगी |

2.आम पात्रता परीक्षा प्रश्नपत्र अंग्रेजी और हिंदी भाषा में दिया जायेगा, इस परीक्षा में किसी क्षेत्रीय भाषा का समावेश नहीं किया जायेगा,क्षेत्रीय भाषा में सरकारी नौकरियों के लिए तैयारी करनें वाले अभ्यर्थियों के लिए एक बड़ी समस्या उत्पन्न हो सकती है ।


यहाँ आपको हमनें आम पात्रता परीक्षा अर्थात सीईटी को लागू करनें के  बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |


  

Advertisement


Advertisement