Wednesday, 13 January 2016

कैसे बनाये Teaching में अपना करियर - जानिये ये बाते

कैसे बनाये Teaching में अपना करियर - जानिये ये बाते

दोस्तों , आज के समय में बहुत से स्टूडेंट्स का सपना टीचिंग में करियर बनाने का होता है | परन्तु यह सपना कुछ ही लोगों का पूरा हो पाता है | सपना को पूरा न होने के बहुत से कारण हो सकते है |
Read Also: Current Affairs 2016 - Read in Hindi Download (करंट अफेयर्स)



 आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे कि इस सपने को कैसे साकार किया जा सके, और हम किस प्रकार से टीचिंग में अपना करियर बना सके ?


टीचिंग लाइन से संबंधित कोर्स चुने-

दोस्तों अगर आपको टीचिंग में करियर बनाना है तो सर्वप्रथम हमें अपने करियर यानि की टीचिंग से ही रिलेटेड कोर्स को चुनना होगा | जिससे की हम टीचिंग की ही लाइन में आगे बढ़ सकें | टीचर बनने हेतु इंटरमीडिएट, ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन स्तर पर कई कोर्स मौजूद हैं, जिनमें प्रमुख हैं -

बीएड (बैचलर ऑफ एजुकेशन) |

बीटीसी (बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट) |

एनटीटी (नर्सरी टीचर ट्रेनिंग) |

बीपीएड (बैचलर इन फिजिकल एजुकेशन) |

जेबीटी (जूनियर टीचर ट्रेनिंग) |

डीएड (डिप्लोमा इन एजुकेशन) |

उपरोक्त दिए हुए कोर्सो के द्वारा आप टीचिंग के क्षेत्र में अपना  पहला कदम अग्रसर कर सकते है | इन्ही कोर्सो के बाद आप टीचिंग की लाइन पकड़ने में आपको बेहद ही आसानी होगी , और आप अपना करियर टीचिंग में बना पाएंगे |


टीचर बनने हेतु कुछ प्रमुख परीक्षाएं-
टीचर बनना आसान नही होता है इस क्षेत्र में भी काफी कठिन-कठिन परीक्षाएं देनी पड़ती है | टीचर बनने के लिए सिर्फ कोर्स करना ही काफी नहीं है बल्कि कुछ एग्‍जाम भी क्‍वालिफाई करना  महत्वपूर्ण बन गया है |

परीक्षाएं-

टीजीटी और पीजीटी-
यह परीक्षा राज्य स्तर पर आयोजित कराई जाती है |  टीजीटी के लिए ग्रेजुएट और बीएड होना जरूरी है तो पीजीटी के लिए पोस्ट ग्रेजुएट और बीएड की डिग्री होना आवश्यक होता है | टीजीटी उत्तीर्ण शिक्षक छठी क्लास से लेकर 10वीं तक के बच्चों को पढ़ाते हैं तथा पीजीटी किये शिक्षक सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी स्टूडेंट्स को पढ़ाते है |

टीईटी (टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट)-
भारत के बहुत से राज्यों में इस परीक्षा का आयोजन बीएड और डीएड कोर्स करने वालों के लिए कराया जाता है | कई राज्यों के हाईकोर्ट ने यह आदेश जारी किया है कि बीएड करने के बाद शिक्षक बनने के लिए इस परीक्षा को पास करना अनिवार्य कर दिया है |


सीटीईटी (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट)-
केंद्रीय विद्यालय, राजधानी क्षेत्र दिल्ली के अधीन स्कूल, तिब्बती स्कूल और नवोदय विद्यालयों में शिक्षक बनने हेतु इस परीक्षा को उत्तीर्ण करना जरूरी होता है | इस परीक्षा का आयोजन सीबीएसई की ओर से होता है | इसमें 60 फीसदी अंक लाना अनिवार्य होता है |

यूजीसी नेट-
नेट एग्‍जाम में तीन पेपर कराये जाते हैं | कैंडिडेट अंग्रेजी, हिंदी किसी भी माध्यम से परीक्षा दे सकता हैं| प्रथम प्रश्न पत्र में जनरल नॉलेज, टीचिंग एप्टीट्यूट, रीजनिंग और दूसरे तथा तीसरे पेपर में चुने गए विषय से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं | यूजीसी नेट की परीक्षा साल में दो बार दिसंबर और जून में आयोजित होती है |

नौकरी के क्षेत्र -
इस क्षेत्र में नौकरियों की कमी नही रहती है आपके पास प्राइवेट और गवरमेंट दोनों ही सेक्‍टर्स में नौकरी चुन सकते हैं | इन सबके बाद कैंडिडेट खुद की कोचिंग या इंस्टिट्यूट खोल सकता है | सरकारी संस्‍थानों के अलावा कैंडिडेट प्राइवेट स्कूलों से लेकर कोचिंग संस्थानों में भी नौकरी प्राप्ति हेतु आवेदन कर सकते हैं |



दोस्तों अब हमें विश्वाश है की आपको इस आर्टिकल के माध्यम से अवश्य ही टीचिंग लाइन पकड़ने में  सहायता प्राप्त होगी | यदि भी आपके मन में  करियर से रिलेटेड कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से अपने सवालों को पूछ सकते हैं, आपके सवालों, प्रतिक्रिया और सुझाव का हमें हमेशा इंतज़ार रहेगा | 

अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो हमारे फेसबुक पेज को like करना न भूलें |

Read Also: क्या है प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना - कैसे पाये रोजगार जानिये

सरकारी नौकरियों के ताज़ा अपडेट (हिंदी में ) फेसबुक पर पाने के लिए नीचे दिए बटन को लाइक करें

1 comment:

  1. thank you.. lekin me only post graduate hu koi bed ya btc nahi hu. mujhe government job ke liya kiya karna hoga..

    ReplyDelete

Speak your Mind

Subscribe for Job alerts

Note: Please check your inbox to get your email verify.

TOP