Monday, 4 April 2016

कैसे करे उपभोक्ता फोरम में शिकायत दर्ज़ - जानिये


कैसे करे उपभोक्ता फोरम में शिकायत दर्ज़ - जानिये
दोस्तों, आज के समय में ग्राहक जमाखोरी, कालाबाजारी, मिलावट, बिना मानक की वस्तुओं की बिक्री,
अधिक दाम, गारंटी की सुविधा का लाभ न मिल पाना, हर जगह ठगी, कम नाप-तौल आदि धांधलियों से ग्राहक घिरा हुआ है। इन सभी समस्याओं को देखते हुए ग्राहक संरक्षण के लिए कुछ कानून बनाए गए हैं, जिससे कोई भी दुकानदार ग्राहक के अधिकारों का हनन न कर सकें |

कभी-कभी ऐसा होता है कि हमें अपने अधिकारों की जानकारी न हो पाने के कारण हम दुकानदार द्वारा ठग लिए जाने पर कुछ नहीं कर पाते है न ही उसके खिलाफ शिकायत करते है |

आज हम आपको उपभोक्ता फोरम के बारे में बताने जा रहें है । जिससे यदि आपके साथ कोई धोखादड़ी होने पर जानकारी के अभाव में उपभोक्ता मंच में शिकायत नहीं करते हैं और चुपचाप बैठ जाते हैं , तो इसीलिए आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानकारी दें जा रहें है जिससे आपके साथ धोखा होने पर आसानी से किसी भी व्यापारी के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं और अपने हक की लड़ाई आसानी से लड़ने में कामयाब हो सकेंगे | दी गई जानकारी कुछ इस प्रकार से है |


उपभोक्ता फोरम में शिकायत दर्ज़ करने हेतु मुख्य बातें-

कौन कर सकता है शिकायत-

उपभोक्ता कोर्ट में स्वयं उपभोक्ता या कोई स्वैच्छिक उपभोक्ता संगठन जो पंजीकृत है, उसी के द्वारा शिकायत दर्ज की जा सकती है। इसके अलावा शिकायत दर्ज करने के पात्र नहीं माना जायेगा |

कहां करें शिकायत -
शिकायत करने का स्थान क्षतिपूर्ति के आधार पर तय किया जाता है। अगर यह राशि 20 लाख रूपये से कम है तो जिला फोरम में शिकायत दर्ज कराई जाती है। यदि यह राशि 20 लाख रूपये से अधिक परन्तु एक करोड़ रूपये से कम है तो राज्य आयोग के समक्ष और यदि एक करोड़ रूपये अधिक है तो राष्ट्रीय आयोग के समक्ष शिकायत दर्ज कराने का प्रवधान बनाया गया है |


कैसे करें शिकायत-

शिकायत करने के लिए उपभोक्ता एक सादा कागज A4 साइज पर अपनी शिकायत को पूरे विवरण के साथ लिखें। जिसमें लिखना होता है कि यह सब कब और कहां हुआ, शिकायत में आरोपों को उल्लेखित करते हुए, समर्थन में प्रमाण को संलग्न करें |

शिकायत दर्ज करने के साथ आरोपों से संबंधित सभी प्रमाणों को लगाएं और साथ में आपकी हानि को लेकर भी प्रमाण प्रस्तुत करें। साथ ही आप अपने मुवावजे का भी विवरण दें जो कि आप प्राप्त करना चाहते हैं।

शिकायत में शिकायतकर्ताओं और विपरीत पार्टी के नाम का विवरण और पता आदि की जानकारी भी दें। शिकायत दर्ज कराने हेतु किसी अधिवक्ता की कोई आवश्यकता नहीं होती है।  इस कार्य हेतु सरकार द्वारा नाम मात्र कोर्ट शुल्क लिया जाता है।

इसके पश्चात जल्द से जल्द कोर्ट में आपकी शिकायत का समाधान कर दिया जाता है। इसके साथ ही आपको हुई हानि का भुगतान भी कर दिया जाता है। वहीं उपभोक्ता अदालत शिकायत के अनुसार ग्राहक की हर संभव सहायता प्रदान करता है।


अन्य जरूरी बातें-

उपभोक्ताओं की सहायता हेतु राष्ट्रीय उपभोक्ता हेल्पलाइन की ओर से एक राष्ट्रीय टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1800114000 (बीएसएनएल व एमटीएनएल उपभोक्ताओं के लिए) चलाया जा रहा है। जिसकी सहायता से आप भी अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

शिकायत दर्ज करवाते समय आवेदन के पृष्ठ के बारे में भी लिखें। इसके साथ ही अगर आप शिकायत करने में विलम्ब हो जाते हैं तो उसके लिए आपको एक एफिडेफिट देना होगा। तथा ध्यान रखें शिकायत में अपने हस्ताक्षर करना ना भूलें।


दोस्तों, इस आर्टिकल के माध्यम से दी गई जानकारी के द्वारा अब आपको उपभोक्ता फोरम में शिकायत दर्ज़ करने में जरूर मदद प्राप्त होगी , और आप एक सफल बनने में कामयाब होंगे | यदि अभी भी आपके समक्ष या करियर संबंधी मन में विचार या दुविधा आ रही है तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से अपने विचारों को जरूर प्रकट करें | आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का हमें इंतजार है |


यदि आप और भी इस तरह की अनेकों जानकारियाँ प्राप्त करना चाहते है तो हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करके जरूर प्राप्त करें | जिस पर आपको डेली करंट अफेयर , आर्टिकल , नौकरी सम्बन्धी तथा करियर से संबंधित जानकारियाँ उपलब्ध है | यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |




सरकारी नौकरियों के ताज़ा अपडेट (हिंदी में ) फेसबुक पर पाने के लिए नीचे दिए बटन को लाइक करें

0 comments:

Post a Comment

Speak your Mind

Subscribe for Job alerts

Note: Please check your inbox to get your email verify.

TOP