किसी भी बैंक में है अगर आपका अकाउंट - तो जरूर जान लीजिये ये चौकाने वाली खबर - Sarkari Naukri Career

Saturday, December 30, 2017

किसी भी बैंक में है अगर आपका अकाउंट - तो जरूर जान लीजिये ये चौकाने वाली खबर

किसी भी बैंक में है अगर आपका अकाउंट - तो जरूर जान लीजिये ये चौकाने वाली खबर
बैंक में पैसा बचत और सुरक्षा की दृष्टि से रखा जाता है | भविष्य में ऐसा हो सकता है ,की बैंक में जमा धन पर आपका अधिकार ही ना रहे | जल्दी ही बैंक में पैसा रखने वाले लोगो के लिए नई समस्या उत्पन्न हो सकती है, क्योंकि मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, केंद्र सरकार एक ऐसा बिल लेकर आ रही है ,जिससे आपके बैंक में जमा धन पर आपका अधिकार खत्म होने का खतरा उत्पन्न हो सकता है । इसके बारे में आपको इस पेज पर विस्तार  से बता रहे है |


क्यों ख़त्म हुआ- उपभोक्ता का अधिकार ?
फाइनेंशियल रेजोल्यूशन एंड डिपॉजिट इंश्योरेंस (एफआरडीआई) बिल में कुछ ऐसे परिवर्तन किये गये है | यह डिपोजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (DICGC) एक्ट का स्थान लेगा ,और कहा जा रहा है कि, इससे बैंक में जमाकर्ताओं का पैसा वापस मिलने की गारंटी नहीं होगी । दिवालिया घोषित होने पर संस्थान आपके धन का प्रयोग कर सकती है |


एक लाख मिलने की गारंटी भी खत्म हो सकती है
यदि नया नियम लागू हुआ तो ,उपभोक्ता को 1 लाख रुपए वापस मिलने की गारंटी खत्म हो जाएगी | वर्तमान  में यह नियम है ,कि बैंक के दिवालिया हो जाने पर उपभोक्ता को एक लाख रुपये तक मिलेगा | बैंक में कितना भी पैसा क्यों ना जमा हो ? एफआरडीआई  बिल में बैंक के दिवालिया होने पर क्या होगा ? इसके बारे में किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं दी गयी है |


क्या है एफआरडीआई  बिल
एफआरडीआई बिल का पूरा नाम फाइनेंशियल रेज्योलुशन एंड डिपॉजिट इंश्योरेंस बिल है | इसका कार्य एक ऐसे रेज्योलुशन कॉरपोरेशन गठित करने का है ,जो वित्तीय संस्थानों पर नजर रखे ,तथा रिस्क प्रोफाइल के आधार पर  सूची बनाये ,और संस्थान को दिवालिया होने से बचाएं | यदि किसी भी दशा में बैंक बंद होती है ,तो उसका रिजॉल्यूशन प्लान बनाने की जिम्मेदारी इन्ही की है |


बैंकों से धन की निकासी
ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एसएस सिसोदिया के अनुसार नए बिल से जमाकर्ताओं के मन में एक भय उत्पन्न हो गया है | जिसके कारण बैंकों में जमा धन उपभोक्ताओं द्वारा प्रतिदिन बड़ी संख्या में निकाला जा रहा है । हांलाकि अभी नए नियम में इस बात का कोई उल्लेख नहीं किया गया है ? इसकी जानकारी अभी सार्वजनिक नहीं हुई है |

संस्थान आपके जमा पैसे का प्रयोग कर सकती है

एफआरडीआई बिल के प्रावधानों के अनुसार दिवालिया हो रहे फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट को बचाने के लिए वे उसे कर्ज लेने वाली संस्था के साथ ही जमाकर्ताओं की धनराशी को प्रयोग में लय जा सकता है |


67 परसेंट एफडी एक लाख रुपए से कम के
बैंक द्वारा जमाकर्ता के एक लाख रुपए का बीमा रिजर्व बैंक की सब्सिडियरी डीआईसीजीसी के पास कराते हैं । प्रति ग्राहक के अनुसार प्रति वर्ष 100 रुपए देने जमा किये जाते है । 67 परसेंट एफडी 1 लाख रुपए से कम के हैं । बैंक फ़ैल हो जाने की स्थिति में छोटे जमाकर्ता इस बीमा के कारण सुरक्षित रहेंगे |


कैसे कम किया जा सकता है -खतरा   
भारत में पिछले 50 वर्षो में शायद ही कोई बैंक दिवालिया घोषित हुआ हो । इसमें परेशान होने की कोई बात नहीं है , क्योंकि बैंक एक जिम्मेदार संस्था होती है | कोई भी बैंक अपनी हानि नहीं चाहती ,फिर भी आप अपनी संतुष्टि हेतु अपने धन को भिन्न-भिन्न बैंको में जमा कर सकते है |


मित्रों,यहाँ हमनें आपको जमा पैसे की गारंटी यानि एफआरडीआई बिल के बारे में बताया | यदि आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है तो कमेंट बाक्स के माध्यम सर व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |
ऐसे ही रोचक न्यूज़ को जानने के लिए हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करके आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |



Advertisement


Advertisement