Wednesday, December 6, 2017

उत्तर प्रदेश में शुरू हुई ऑनलाइन रजिस्ट्री - जानिये कैसे होती है e-registry


उत्तर प्रदेश में शुरू हुई ऑनलाइन रजिस्ट्री - जानिये कैसे होती है e-registry
किसी प्रॉपर्टी खरीदना और उसे रजिस्टर करवाना एक बहुत महत्वपूर्ण कार्य होता हैं ,क्योकि रजिस्ट्री करने के पश्चात उस प्रॉपर्टी या घर को  खरीदनें की प्रक्रिया पूर्ण माना जाता  है | प्रॉपर्टी या घर के वैध मालिक बनने के लिए  भारतीय कानून के विभिन्न नियमों का पालन करना होता है , जिसको पूरा करने में काफी समय लगता है और अनेक कठिनायों का सामना करना पड़ता है | इस प्रकार की समस्याओ से बचने के लिए सरकार ने ई -रजिस्ट्री योजना को  शुरू किया है | आगे ऑनलाइन रजिस्ट्री प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है | जिसके द्वारा आपको अपनी  प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री आसानी से करा सकते है |


  " लखनऊ में माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने आॅनलाइन रजिस्ट्री की व्यवस्था का शुभारम्भ किया, आॅनलाइन रजिस्ट्री की व्यवस्था पंजीयन में सहूलियत प्रदान करने के साथ-साथ पारदर्शी सिद्ध होगी।" @myogiadityanath

ई -रजिस्ट्री क्या है
सरकार द्वारा ई - रजिस्ट्री की शुरुआत करने से आप कई प्रकार की कठिनाईओ से बच सकेंगे, जैसे स्टाम्प खरीदना या जिस सर्किल में आप अपनी प्रॉपर्टी खरीद रहे है ,उसके अनुसार सर्किल रेट की बारे में जानकारी प्राप्त करना इसके लिए निबंधन विभाग ने  एक सॉफ्टवेयर तैयार किया है । इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से रजिस्ट्री की सम्पूर्ण प्रक्रिया आसानी से की जा सकेगी । इस सुविधा से आपको पहले की तरह कई बार रजिस्टार कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं होगी, और स्टाम्प कितने खरीदने है ? कहाँ से खरीदने है आदि अनेक प्रकार की समस्याओ से छूट मिल जाएगी |


ई –रजिस्ट्री के नियम
·       -किसी प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री से पहले क्रेता को ऑनलाइन आवेदन करना होगा।
·       -आवेदन में खरीदार जो ऑनलाइन जानकारी देगा, उससे स्टांप ड्यूटी भी कैलकुलेट हो जाएगी ।
·       -इसके बाद आवेदक ऑनलाइन ही स्टांप शुल्क जमा करवा सकता है ।
·       -आवेदन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद रजिस्ट्री के लिए एक तारीख(अपॉइंटमेंट) मिल जाएगी ।
·       -इसकी जानकारी आवेदक के पास एसएमएस के माध्यम से मिल सकेगी ।
·       -निश्चित तारीख और समय को सब-रजिस्ट्रार के सामने उपस्थित होकर रजिस्ट्री करवाई जा सकेगी ।
·       -ऑनलाइन स्टांप खरीदने पर खरीदार को एक कोड मिलेगा। तय तिथि पर इसे संबंधित सब-रजिस्ट्रार कार्यालय में देना होगा

·       क्रेता और विक्रेता के अंगूठे के निशान और भौतिक सत्यापन का काम संबंधित सब रजिस्ट्रार दर्ज कराकर रजिस्ट्री की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी ।


इन शहरों में लागू हुई ई –रजिस्ट्री
सरकार ने इस सुविधा पांच शहरों में को लागू किया है, जिसमे राजधानी लखनऊ, बरेली, मुरादाबाद, कासगंज और बाराबंकी हैं । इन शहरों में  ई-रजिस्ट्री की प्रक्रिया के सुचारू रूप से चलने के बाद प्रदेश के सभी जिलों में शुरू कर दिया जाएगा |

ई-रजिस्ट्री से लाभ
इस योजना के लागू होने से प्रॉपर्टी  के बारे में ,या स्टाम्प ड्यूटी बचाने के लालच में गलत जानकारी देता है तो उस पर रजिस्ट्री लागत से कई गुना जुर्माना लगाया जा सकता है , साथ ही  साथ आपको कागजी कार्रवाई की दौड़-भाग से राहत मिल सकेगी | प्रत्येक वर्ष स्टाम्प की छपाई और ढुलाई में खर्च होने वाले करीब 80 करोड़ रुपये बचेंगे ,और मैनुवल स्टाम्प की वापसी को लेकर उत्पन्न होने वाली समस्या एवं दौड़भाग से बचत मिलेगी ।


दोस्तों , यहाँ इस पेज पर ,अपनी प्रॉपर्टी या घर की रजिस्ट्री,  ई-रजिस्ट्री योजना के माध्यम से कराने से  सम्बंधित पूरी जानकारी दी गयी है ,यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है ,तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इन्तजार है |

यदि आप इस तरह की और भी जानकरियाँ पाना चाहते है तो हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन  करें | जहाँ पर आपको डेली करंट अफेयर , आर्टिकल , नौकरी सम्बन्धी तथा करियर के बारे में जानकारियाँ मिलेंगी | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |




Advertisement


Advertisement


No comments:

Post a Comment

If you have any query, Write in Comment Box