Friday, January 5, 2018

एक वकील कैसे बने - जानिये क्या है योग्यता (विस्तार से)

एक वकील कैसे बने - जानिये क्या है योग्यता (विस्तार से)
प्रत्येक छात्र अपनी लाइफ में एक लक्ष्य को निर्धारित करता है,और अपने जीवन में डाक्टर ,इंजिनियर ,शिक्षक ,जज आदि बनना चाहते है | छात्र अपनी इच्छानुसार क्षेत्र का चयन करते है | कुछ लोग एक अच्छा लॉयर(वकील) बनना चाहते है | जिस प्रकार डाक्टर और  इंजिनियर बनने के लिए अलग पाठ्यक्रम का चयन किया जाता है ,उसी प्रकार अधिवक्ता बनने के लिए एलएलबी करनी पड़ती है | एलएलबी करने के लिए आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है |


एलएलबी क्या है
एलएलबी का पूरा नाम बेचलर ऑफ़ लॉ है | एलएलबी में कानून के बारे में पढाया जाता है, यदि  किसी निर्दोश को पुलिस पकड़ती है या उससे जेल होती है ,तो आप उसके पक्ष से लड़कर उसे बचा सकते है , क्योंकि वकीलों को कानून के बारे में सर्वाधिक जानकारी होती है | यदि किसी क़ानूनी चीज़ के बारे में जानकारी प्राप्त करनी हो तो ,हम वकील की सहायता लेते है | एलएलबी की पढाई करने के बाद आप एक वकील बन जाते है ,और इसके बाद आप चाहे तो कोर्ट में जज बन सकते है |


एलएलबी के पाठ्यक्रम
एलएलबी के पाठ्यक्रम दो तरह के होते है ,पहले प्रकार के पाठ्यक्रम में 5 साल का कोर्स और दूसरे पाठ्यक्रम में 3 साल का कोर्स करना होता है | अगर आप 12 वी पास करने के पश्चात लॉ की पढाई करना चाहते है तो इसके लिए आपको 5 साल पढना होगा | लेकिन अगर आप इस पाठ्यक्रम को ग्रेजुएशन करने के बाद करना चाहते है तो यह पाठ्यक्रम 3 वर्ष का होगा | इसमें प्रवेश हेतु ऑनलाइन परीक्षा देनी होती है ,जिसमें  इंग्लिश , लॉजिकल रीजनिंग , लीगल एप्टी , गणित और जनरल अवेयरनेस से सम्बंधित सवाल पूछे जाते है |


इस एंट्रेंस परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर आप एलएलबी में प्रवेश लिया जा सकता है | इस एंट्रेंस एग्जाम के अलावा कुछ कॉलेज है जो आपको अलग से लॉ की पढाई करवाते है | यह  कॉलेज Symbiosis Law School, National Law University, Delhi and Jindal Global Law School है ये सारे टेस्ट लॉ स्कूल एडमिशन काउंसिल (Law School Admission Council) र्गत आते है जिनके एग्जाम देके आप लॉ की पढाई करके लॉयर बन सकते है |


वकील बनने हेतु शैक्षिक योग्यता
1.वकील बनने के लिए लॉ के पांच वर्षीय पाठय़क्रम के लिए आपको बारहवीं पास होना अनिवार्य है ,और बारहवीं के बाद कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट नामक ऑनलाइन परीक्षा होती है,उसमे पास होने के बाद ही प्रवेश प्राप्त किया जा सकता है । इस परीक्षा में बारहवीं या ग्रेजुएशन 50 फीसदी अंकों के साथ पास होना अनिवार्य है ,तथा उम्र 20 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए |   

2.विद्यार्थी अपनी इच्छा के अनुसार लॉ के तीन वर्षीय या पांच वर्षीय बैचलर डिग्री पाठय़क्रम को अध्ययन के रूप में चुन सकते है इसके बाद कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट नामक परीक्षा होती है,उसमे पास होने के बाद ही प्रवेश मिलता है । लॉ के तीन वर्षीय पाठय़क्रम में प्रवेश के लिए ग्रेजुएट होना अनिवार्य है ।    

3.बीए एलएलबी करते हुए विद्यार्थी को किसी स्पेशलाइज्ड फील्ड जैसे कॉरपोरेट लॉ, पेटेंट लॉ, क्रिमिनल लॉ, साइबर लॉ, फैमिली लॉ, बैकिंग लॉ, टैक्स लॉ, इंटरनेशनल लॉ, लेबर लॉ, रीयल एस्टेट लॉ आदि में विशेषता हासिल करनी होती है ताकि आगे चलकर उसी विशेष विषय रूप से वकालत कर सके ।


वकील बनने हेतु आवश्यक स्किल्स और गुण
1.लॉ करने वाले विद्यार्थी को  बेहतर संवाद कौशल आना चाहिए । 

 2.किताबों एवं घटनाओं से निरंतर जुड़े रहना और करंट अफेयर्स की जानकारी रखना । 

3.किसी सवाल के जवाब में तुरंत प्रतिक्रिया देनी आनी चाहिए । 

 4.विद्यार्थी को तार्किक, धैर्यवान, एकाग्रता, बहस करने की क्षमता और आत्मविश्वास से भरपूर होना चाहिए । 

5.एक अच्छा वकील बनने के लिए मृदुभाषी, मेहनती तथा लीडर जैसे गुण भी होने आवश्यक है ।

6.रिसर्च एवं एनालिसिस पर पूरी पकड़ आवश्यक है । 

7.किसी भी घटना या केस के संदर्भ  से बाहर जाकर सोचने का हुनर होना चाहिए तभी एक कामयाब वकील बन पाएंगे । 

8.क़ानूनी पहलुओ का ज्ञान गहनता से करना चाहिए ।


लॉ की पढाई के पश्चात इंटर्नशिप करे
जिस प्रकार डाक्टर और इंजिनियर के पाठ्यक्रम पूर्ण करने के बाद हमें उसके ज्ञान के लिए इंटर्नशिप करना आवश्यक होता है ,उसी प्रकार लॉ स्कूल से पढाई पूरी करने के बाद आपको इंटर्नशिप करना होगा | इस इंटर्नशिप के दौरान आपको कोर्ट कचहरी के बारे में सब कुछ बताया जाता है ,जैसे - कोर्ट की हियरिंग कैसे होते है ? कैसे दो वकील वकालत करते है ?, किस पक्ष के लिए , इसलिए आपको इंटर्नशिप करना आवश्यक है |


स्टेट बार काउंसिल के लिए एनरोल करे
इंटर्नशिप करने के बाद अब आपको किसी भी स्टेट बार काउंसिल में एनरोल करना आवश्यक है एनरोल करने के पश्चात आपको आल इंडिया बार एग्जामिनेशन को क्लियर करना होगा ,जो की बार कौंसिल ऑफ़ इंडिया द्वारा कंडक्ट किया जाता है | इसे क्लियर करने के बाद  प्रैक्टिस का सर्टिफिकेट प्राप्त होता है | इस तरह आपकी एलएलबी कोर्स यानि वकील बन्ने की पढाई पूरी हो जाएगी इस कोर्स के बाद आप अपनी प्रैक्टिस को जारी रख सकते है ,या अपनी आगे की पढाई अर्थात मास्टर इन लॉ कोर्स कर सकते है |
 

मित्रो,यहाँ हमने आपको वकील बनने के बारे में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है |हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही रोचक न्यूज़ को जानने के लिए हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करके आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |


Advertisement


Advertisement


1 comment:

  1. Kya vakil banane ke liye mathst padhini parti hai

    ReplyDelete

If you have any query, Write in Comment Box