आईएएस (IAS) अधिकारी जो 90% दृष्टिहीन है हमेशा परफेक्ट रहता है इनका काम

Thursday, February 15, 2018

आईएएस (IAS) अधिकारी जो 90% दृष्टिहीन है हमेशा परफेक्ट रहता है इनका काम

आईएएस (IAS) अधिकारी जो 90% दृष्टिहीन है हमेशा परफेक्ट रहता है इनका काम
अमन गुप्ता एक ऐसे आईएएस ऑफिसर है, जो 90 फीसदी दृष्टिहीन होते हुए अपने बेहतर कार्यो के लिए जाने जाते है, इसके साथ साथ दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की रैंकिंग के सुधार का श्रेय इन्हीं को प्राप्त है | वर्तमान में वह अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम- केंद्रशासित प्रदेश कैडर से 2013 बैच के IAS अधिकारी हैं ।

अमन गुप्ता अपनें सभी कार्य अमेरिकी विडियो मैग्निफायर की मदद से  करते हैं, और इसी की सहायता से वह पढ़ पाते हैं, इनके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


इस बीमारी का नहीं कोई इलाज
अमन जिस मेडिकल स्थिति से गुजर रहे हैं, उसे जूवेनाइल मैकुलर डीजेनरेशन कहा जाता है, जिसका कोई इलाज नहीं है । अमन की नजर अब फीचर्स के आधार पर लोगों को पहचान नहीं कर पाते । अमन जब क्लास 12 में थे तब वह बाइक चलाया करते थे ।

शुरुआत में उन्हें कंप्यूटर का कर्सर दिखना बंद हुआ, और समय के अनुसार ब्लैकबोर्ड पर भी दिखना बंद हो गया | वर्ष 2002 में AIIMS ने बताया कि उन्हें जूवेनाइल मैकुलर डीजेनरेशन है, जिसके कारण कुछ ही वर्षों में उन्हें 90 फीसदी तक दिखाई देना बंद हो गया ।



कैसे बने एक आईएएस ऑफिसर
वर्ष  2012 की यूपीएससी की परीक्षा में सम्मिलित होने के पश्चात वह उत्तीर्ण नही हो पाए, इसके  पश्चात  उन्होंने ऑडियो बुक्स के माध्यम से तैयारी प्रारंभ की और अधिक समय देना प्रारंभ किया, इसके पश्चात जनरल कैटिगरी में 57वीं ऑल इंडिया रैंकिंग प्राप्त हुई ।  वर्तमान में अमन के पास तीन महत्वपूर्ण  डायरेक्टर(पर्सनेल), अडिश्नल डायरेक्टर(एजुकेशन) और एसडीएमसी कमिश्नर का सचिव पद संभाल रहे हैं ।


पूरी सतर्कता से करते है कार्य
अमन जी अपना कार्य पूरी सतर्कता से करते है, कुछ अधिकारियों अनुसार, जब अमन वेस्ट जोन में थे तब कई अधिकारी मीटिंग हॉल से बाहर निकल जाते थे, लेकिन जब उन्हें पता चलता तो उनके खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी हो जाता । जब अमन एसडीएमसी में नए थे, एक अधिकारी को अपमानित महसूस हुआ, अमन ने कहा, 'मैं देख नहीं पाया कि आप मुझसे हाथ मिलाना चाहते हैं, मैंने बाद में उनको बताया कि मैं 90% दृष्टिबाधित हूं ।'


एसडीएमसी के टॉप अधिकारियों में से एक
अमन को 90 फीसदी तक दिखाई न देने कारण वह  विडियो मैग्निफायर की मदद से पढ़ते हैं, जिसमें 200% अधिक समय लगता है, फिर भी उनका कार्य पेंडिंग नहीं रहता, जबकि अनेक बार अपनी आवश्यकतानुसार वस्तुओ को प्राप्त काफी कठिनाइ होती है इन सब परेशानियों के बावजूद वह एसडीएमसी के टॉप अधिकारियों में से हैं |


मित्रों, यहाँ आपको हमनें 90 फ़ीसदी दृष्टिहीन आईएएस अधिकारी अमन गुप्ता के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसी ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |



Advertisement


Advertisement


No comments:

Post a Comment

If you have any query, Write in Comment Box