Monday, January 15, 2018

IPS कैसे बने - जाने पूरी जानकारी (हिंदी में )

IPS कैसे बने - जाने पूरी जानकारी (हिंदी में )
प्रत्येक छात्र अपने जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए एक लक्ष्य को निर्धारित करता है, और अपने लक्ष्य की प्राप्ति हेतु कठोर परिश्रम करते हुए अनेक कठिनाइयों का सामना करते है | प्रत्येक छात्र का अपना एक लक्ष्य जैसे ,इंजीनियर ,डाक्टर ,बैंक मेनेजर, आर्मी ,आईएएस अधिकारी ,आईपीएस आदि बनना चाहते है |



कुछ छात्रों को पुलिस विभाग में अधिक रूचि होती है, और वह एक आईपीएस अधिकारी बनना चाहते है | किसी विभाग में जाने से पूर्व ,उस विभाग की सम्पूर्ण जानकारी आवश्यक है ,क्योंकि अधूरा ज्ञान असफलता की और ले जाता है | एक आईपीएस अधिकारी कैसे बनें ? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


आईपीएस अधिकारी कैसे बनें
आईपीएस अधिकारी ,भारतीय पुलिस में क्‍लास वन ऑफिसर के रूप में होता है | आईपीएस बनने के लिए सिविल सर्विस परीक्षा उत्तीर्ण करनीं होती है | सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन यूपीएससी द्वारा किया जाता है | यूपीएससीका पूरा नाम यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन है | 


यूपीएससी  द्वारा आयोजित परीक्षा में प्रत्येक वर्ष लाखो की संख्या में छात्र सम्मिलित होते है ,परन्तु इन लाखो की संख्या में सिर्फ 200 छात्रों को चयनित किया जाता है | प्रत्येक वर्ष आयोजित होने वाली इस परीक्षा के तीन चरण होते है |
 1.प्रारंभिक परीक्षा |
 2.मुख्य परीक्षा |
 3.साक्षात्कार / व्यक्तित्व परीक्षण |


शैक्षिक योग्यता
एक आईपीएस अधिकारी बनने के लिए अभ्यर्थी को मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक होना आवश्यक है ,जबकि इस परीक्षा में स्नातक डिग्री पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष के छात्र को प्रारंभिक परीक्षा में बैठने का अवसर प्रदान किया जाता है ।


शारीरिक योग्यता 
पुरुष अभ्यर्थी की लंबाई कम से कम 165 सेंटीमीर होनी चाहिए ,तथा आरक्षित श्रेणी हेतु 160 सेंटीमीटर होना आवश्यक है महिला अभ्यर्थी  का कद 150 सेंटीमीटर तथा आरक्षित श्रेणी की महिलाओं की लम्बाई 145 सेंटीमीटर होनी चाहिए | पुरुष अभ्यर्थी का चेस्‍ट कम से कम 84 सेंटीमीटर तथा महिलाओं के लिए कम से कम 79 सेंटीमीटर होना चाहिए | स्‍वस्‍थ आंखों का विज़न 6/6 या 6/9 तथा कमजोर आंखों का विज़न 6/12 या 6/9 होना आवश्यक है |


आईपीएस के लिए उम्र सीमा
आईपीएस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए सभी वर्ग के अभ्यर्थियों हेतु न्यमनतम आयु सीमा 21 वर्ष ,और सामन्य वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम आयु सीमा 32 वर्ष है । आ रक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों की अधिकतम आयु सीमा सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों से भिन्न  है ।


प्रारंभिक परीक्षा
यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा पहला चरण है । इस चरण में तर्क और विश्लेषणात्मक के सवालों को हल करने में परीक्षार्थियों की योग्यता का आकलन किया जाता है | आईपीएस प्रारंभिक परीक्षा में दोनों पेपर वस्तुनिस्थ प्रकार के होंगे और प्रत्येक 200  अंक के होंगे | इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के पश्चात अभ्यर्थी को मुख्या परीक्षा हेतु बुलाया जाता है |


पेपर 1 के पाठ्यक्रम
इस पेपर में भारतीय इतिहास और भारतीय राष्‍ट्रीय आंदोलन, भारत और विश्‍व का भूगोल, भारतीय राजतंत्र और गवर्नेंस (संविधान, पॉलिटिकल सिस्‍टम, पंचायती राज, पब्लिक पॉलिसी), आर्थिक और सामाजिक विकास (सस्‍टेनेबल डेवलपमेंट, गरीबी, जनसंख्‍या), इनवायरमेंटल इकोलॉजी, बायो-डायवर्सिटी, क्‍लाइमेट चेंज और जनरल साइंस जैसे विषयों से ऑब्‍जेक्टिव , राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय करंट अफेयर्स, सवाल पूछे जाते हैं | इस पेपर की निर्धारित समय सीमा 2 घंटे है |


पेपर-2  के पाठ्यक्रम (200 अंक )
इस पेपर में लॉजिकल रीजनिंग और एनालिटिकल एबिलिटी, कॉम्प्रिहेंशन, इंटरपर्सनल स्किल्‍स, डिसिजन मेकिंग और प्रॉब्‍लम सॉल्विंग, जनरल मेंटल एबिलिटी, बेसिक न्‍यूमरेसी और डेटा इंटरप्रिटेशन (चार्ट, ग्राफ, टेबल) से संबंधित सवाल होते हैं ,  इस पेपर की समय सीमा 2 घंटे निर्धारित है |


मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम (200 अंक )
यह परीक्षा का दूसरा चरण होता है | इस परीक्षा में अभ्यर्थी की शैक्षिक प्रतिभा और समझ और उनकी यादाश्त की गुणवत्ता  को देखा जाता है | यूपीएससी की प्रारम्भिक परीक्षा में कुल 9 विषय होते है , जिसमे दो पेपर क्वालीफाइंग पेपर होते है ,और प्रत्येक 300 अंक के होते है |


अंको का निर्धारण
पेपर
विषय
अंक

पेपर A(क्वालीफाइंग )
सविधान को आठवी सूची में शामिल किसी एक भारतीय भाषा का चुनाव

300
पेपर-B (क्वालीफाइंग )  
अंग्रेजी

300
पेपर -1  
जनरल स्टडीज -1 (भर्तिया विरासत और संस्कृति ,इतिहास ,भूगोल )

250
पेपर-2
जनरल स्टडीज -2 गवर्नेंस संविधान ,राजतन्त्र ,सामाजिक न्याय ,और अन्त्रस्त्रिया सम्बन्ध

250
पेपर-3
जनरल स्टडीज -3 टेक्नोलॉजी इकोनॉमिक डेवेलोपेमेंट ,सुरक्षा और आपदा प्रबंधन 

250
पेपर-4
जनरल स्टडीज -4 आचार ,नीति ,अखंडता ,एप्टीट्यड 
250
पेपर-5
ऑप्शनल विषय पेपर -1 
250

पेपर-6
ऑप्शनल विषय पेपर -2
250

लिखित परीक्षा का कुल योग
1750 

साक्षात्कार
275

कुल अंक
2025



वैकल्पिक विषय
वैकल्पिक विषयों में  एग्रीकल्‍चर, एनिमल हस्‍बेंड्री और वेटनरी साइंस, मानव विज्ञान, बॉटनी, केमिस्‍ट्री, सिविल इंजीनियरिंग, कॉमर्स और एकाउंटेंसी, इकनॉमिक्‍स, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, भूगोल, भू-विज्ञान, इतिहास, लॉ, मैनेजमेंट, मकेनिकल इंजीनियरिंग, मेडिकल साइंस, फिलॉसफी, फिजिक्‍स, पॉलिटिकल साइंस और अंतरराष्‍ट्रीय संबंध, मनोविज्ञान, पब्लिक एडमिनिस्‍ट्रेशन, समाजशास्‍त्र, स्‍टेटस्टिक्‍स, जू़लॉजी और भाषा (असमिया, बंगाली, बोडो, डोगरी, गुजराती, हिंदी, कन्‍नड़, कश्‍मीरी, कोंकणी, मैथिली, मलयालम, मणिपुरी, संथाली, सिंधी, तमिल, तेलुगु, उर्दु और अंग्रेजी) में से किसी एक का चुनाव वैकल्पिक विषय के रूप में कर सकते हैं |


साक्षात्कार
मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात अभ्यर्थी को साक्षात्कार हेतु चयनित किया जाता है | सिविल सेवा के बोर्ड द्वारा यह साक्षात्कार लिया जाता है | साक्षात्कार में अभ्यर्थी से  सामाजिक लक्षण और समसामयिक मामलों में अपनी रुचि का और सार्वजनिक सेवा में एक कैरियर हेतु अभ्यर्थी की व्यक्तिगत सोंच का विश्लेषण करने के उद्देश्य से सक्षम और निष्पक्ष का एक बोर्ड द्वारा आयोजित किया जाता है ।


इस परीक्षण के अंतर्गत परीक्षार्थी के मूल्यांकन गुणों में से कुछ मानसिक सतर्कता, स्पष्ट और तार्किक प्रदर्शनी, आत्मसात, विविधता और ब्याज की गहराई के महत्वपूर्ण शक्तियों, न्याय के संतुलन, बौद्धिक और सामाजिक सामंजस्य और नेतृत्व की क्षमता का परिक्षण किया जाता है |

आईपीएस परीक्षा में सफलता प्राप्त करने हेतु आवश्यक सुझाव
1.आईपीएस परीक्षा में सफलता प्राप्त करने हेतु आपको प्रतिदिन नियमतः लगभग 10 घंटे पढाई करनी चाहिए |

2.पिछले पांच साल के प्रश्न पत्रों को हल करने का अभ्यास करें |

3.NCERT की किताबो को प्रतिदिन पढ़े ,( 6-12  तक ) |

4.प्री परीक्षा हेतु ऐसे विषय को चुनें ,जिसमें आपको अच्छा ज्ञान हो |

5.समय के अनुसार करंट अफेयर और न्यूज़ चैनल के माध्यम से नयी जानकारी प्राप्त करने का प्रयास करें |

6.अपनी सोंच सकारात्मक और अपने आत्मविश्वास को बनायें रखें |

7.अपने अन्दर की कमियों पर विशेष रूप से ध्यान दे और उन्हें समय के अनुसार सुधारनें का प्रयास करें |

मित्रों,यहाँ आपको हमनें आईपीएस अधिकारी बननें के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |


ऐसे ही रोचक न्यूज़ को जानने के लिए हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करके आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |


Employment Newspaper Section


Uttarakhand Rojgar Darshan 

Hindi Employment Newspaper

Advertisement


Advertisement


No comments:

Post a Comment

If you have any query, Write in Comment Box