हिंदी शिक्षक बनना है तो अब पड़ेगा संस्कृत जानना: क्या है विवाद आप भी जान ले - Sarkari Naukri Career

Wednesday, March 21, 2018

हिंदी शिक्षक बनना है तो अब पड़ेगा संस्कृत जानना: क्या है विवाद आप भी जान ले


हिंदी शिक्षक बनना है तो अब पड़ेगा संस्कृत जानना: क्या है  
लोक सेवा आयोग की ओर से राजकीय विद्यालयों में 15 विषयों में कुल 10768 शिक्षकों की भर्ती होनी है, जिसकी आवेदन  प्रक्रिया प्रारंभ होने के साथ ही हिंदी, कला और कंप्यूटर विषयों में योग्यता को लेकर विवाद उत्पन्न हो चुका  है, आयोग ने हिंदी शिक्षक की योग्यता में संस्कृत को अनिवार्य कर दिया है, जबकि इसी पद पर हिंदी शिक्षक की शैक्षिक योग्यता माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड द्वारा संस्कृत विषय के साथ इंटरमीडिएट अथवा संस्कृत के साथ स्नातक है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |

Read:कैसे बनाये Teaching में अपना करियर

हिंदी शिक्षक को संस्कृत जानना अनिवार्य
हिंदी, कला और कंप्यूटर विषयों में योग्यता को लेकर आवेदन करनें वाले अभ्यर्थियों के लिए चिंता का विषय बन चुका है,   हिंदी शिक्षक की शैक्षिक योग्यता माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड द्वारा संस्कृत विषय के साथ इंटरमीडिएट अथवा संस्कृत के साथ स्नातक है, प्रतियोगी छात्र इसे लेकर कई दिनों से शिक्षा निदेशालय से माध्यमिक शिक्षा परिषद तक विरोध कर रहे हैं, छात्रों के अनुसार, एक प्रदेश में एक ही पद के लिए कई शैक्षिक योग्यता का निर्धारण कर हमारे भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है,तथा छात्र इंटरमीडिएट में संस्कृत की अनिवार्यता समाप्त करने की मांग कर रहे हैं ।

Read: कैसे करे बिना कोचिंग के Competition Exam की तैयारी - जानिये

Read:कैसे पाये मनपसंद सरकारी नौकरी

परिषद सचिव नीना श्रीवास्तव ने हिंदी की योग्यता की स्थिति स्पष्ट करते हुए आयोग को पत्र भेजा है, जिसमें उन्होंने स्पष्ट किया है कि, कक्षा नौ और दस के हिंदी विषयों के शिक्षकों की न्यूनतम शैक्षिक योग्यता बीए हिंदी तथा संस्कृत के साथ इंटरमीडिएट अथवा समकक्ष परीक्षा एवं बीएड या अन्य समकक्ष डिग्री अथवा बीए हिंदी एवं संस्कृत के साथ अथवा समकक्ष परीक्षा एवं बीएड या अन्य समकक्ष डिग्री मान्य है, इसी के साथ-साथ  कंप्यूटर विषय के शिक्षक के लिए बीएड की अनिवार्यता समाप्त करने की भी मांग की जा रही है, परिषद सचिव ने कंप्यूटर की योग्यता में संशोधन से संबंधित पत्र शासन को भेजा है ।

Read:किसी भी प्रतियोगिता परीक्षा में सफलता के लिए मंत्र - क्या करे और क्या ना करे

टीजीटी कला के छात्रों की मांग
लोक सेवा आयोग की से निकाली गई एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती में टीजीटी कला के छात्रों नें एक अवसर की मांग की है,छात्रों के अनुसार, वित्तपोषित विद्यालयों में अब तक टीजीटी कला शिक्षकों का चयन परिषद के 1921 इंटरमीडिएट नियमावली के अंतर्गत किया जाता था,और इस पद हेतु  योग्यता प्राविधिक कला में इंटरमीडिएट या हाईस्कूल प्राविधिक के साथ आईजीडी रखी गई है, परन्तु इन नियमों में लगातार परिवर्तन किया जा रहा है,जिससे आवेदन करने वाले छात्रों को काफी परेशानी का सामना करना पड़  रहा है, टीजीटी कला के प्रतियोगी छात्रों ने इस संबंध में शिक्षा निदेशालय में अफसरों को ज्ञापन दिया है ।

Read:Computer Based Test (CBT)
Read:सरकारी नौकरी मिलेगी जरूर अगर आपका करेंट अफेयर्स होगा मजबूत

यहाँ आपको हमनें हिंदी शिक्षक के लिए संस्कृत जानना अनिवार्य किये जाने बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |

Read: Check out All List of Teaching Jobs for All States

Read: UP LT Grade Teacher Recruitment 2018 - 10768 Bharti


Read: Latest Update Teaching Jobs

Advertisement


Advertisement