Tuesday, March 27, 2018

NCC C Certificate क्या है जाने लाभ | रोजगार सब कुछ जाने यहाँ


NCC C Certificate क्या है जाने लाभ | रोजगार सब कुछ जाने यहाँ
पढ़ाई के साथ-साथ नौकरी प्राप्त करनें का एक रास्ता एनसीसी के माध्यम से है, एनसीसी का पूरा नाम, नेशनल कैडेट कोर है, जो कॉलेज के अनुशासित और देशभक्त युवाओं को भविष्य के लिए नेतृत्व प्रदान करता है, यह सेना के तीनों अंगों को अपने कुशल प्रशिक्षण से मजबूती प्रदान करते हैं, सेना एनसीसी के बी व सी सर्टिफिकेट को भर्ती में वरीयता देती है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


क्या है- नेशनल कैडेट कोर 
एनसीसी एक ऐसा संगठन है, जो सम्पूर्ण भारत में स्कूल कालेजों व विश्वविद्यालयों में पढ़ रहे छात्रों को सैन्य प्रशिक्षण के साथ – साथ उन्हें, अपने जीवन को अनुशासित तरीके से जीना सिखाने के साथ ही एक जिम्मेदार नागरिक बनाते है, एनसीसी में छात्रों के  अन्दर समाजसेवा, अनुशासन, चरित्र निर्माण, परिश्रम की भावना जाग्रत की जाती है,तथा सीनियर छात्रों की ट्रेनिंग सुरक्षा बलों के जवानों की तर्ज पर होती है | एनसीसी में तीन प्रकार के प्रमाण पत्र ए, बी तथा सी  प्रदान किये जाते है, यह छात्रों के लगन और परिश्रम तथा परीक्षा के आधार पर दिया जाता है |


एनसीसी का ए प्रमाण पत्र 15 वर्ष से कम उम्र के छात्रों के लिए है, 'बी' सर्टिफिकेट प्राप्त करने की अधिकतम उम्र 17  वर्ष है, 'बी' सर्टिफिकेट प्राप्त करने के दो वर्ष पश्चात छात्र 'सी' सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते है, ए' सर्टिफिकेट से छात्र बड़ा पद नहीं प्राप्त कर सकते, अधिक से अधिक सीएसएम (कंपनी सार्जेंट मेजर) तक जा सकते हैं,  जबकि बी सर्टिफिकेट से जेयूओ और सी सर्टिफिकेट से सीएसयूओ (कंपनी सीनियर अंडर ऑफिसर) का पद प्राप्त कर सकते हैं,  एनसीसी से 'सी' सर्टिफिकेट प्राप्त छात्रों को सेना, अर्धसैनिक बलों के अतिरिक्त विभिन्न सरकारी नौकरियां प्राप्त करनें में आसानी होती है |


एनसीसी कोर्स का पाठ्यक्रम
छात्र के एनसीसी में सम्मिलित होने पर कॉलेज में इसके लिए अलग से क्लास होती है, एक सप्ताह में 40 मिनट की छह क्लास होती हैं, एनसीसी में सम्मिलित होने वाले छात्रों को मेडिकल स्तर पर स्वस्थ होना आवश्यक है । एनसीसी में छात्रों को क्लास के दौरान ड्रिल पढ़ाया जाता है, इसमें उन्हें अनेक शारीरिक तरह के अभ्यास से गुजरना होता है, इसके अतिरिक्त  उन्हें फील्ड क्राफ्ट जैसे समाज सेवा, मैन मैनेजमेंट, मैप रीडिंग, राइफल खोलना, जोड़ना व उसके कलपुर्जे के बारे में विस्तार से बताया जाता है, इस प्रकार के ड्रिल कराकर उनमें नेतृत्व का गुण भी उत्पन्न किया जाता है, पहले वर्ष के बाद दूसरे वर्ष  में छात्रों में गंभीरता और अभ्यास में गहनता आ जाती है, स्कूल स्तर पर इससे जुड़े सम्बंधित कार्य कराए जाते हैं, वे मोटिवेशनल होते हैं ।


एनसीसी प्रमाण पत्र से लाभ
यदि छात्र विद्यालय में एनसीसी में ‘ए’ सर्टिफिकेट प्राप्त कर चुके है, तो उच्च शिक्षा के लिए कुछ संस्थानों में प्रवेश के लिए  अलग से कोटा निर्धारित होता है, प्रवेश के दौरान, स्नातक में इंजीनियरिंग कोर्स को छोड़कर अन्य सभी कोर्स में पांच फीसद की छूट प्रदान की जाती है, अगर किसी कोर्स में 50 फीसद पर प्रवेश दिया जा रहा है, वहां एनसीसी के छात्रों को 45 फीसद पर प्रवेश प्राप्त किया जा सकता है,  ‘बी’ और ‘सी’वाले को पोस्ट ग्रेजुएशन में छूट प्राप्त होती है, यदि किसी छात्र के पास एनसीसी सी सर्टिफिकेट है, तो वह एनडीए व सीडीएस जैसी सेना भर्ती की परीक्षाओं में वह सामान्य आवेदकों से आगे निकल सकते हैं, सेना एनसीसी के बी व सी सर्टिफिकेट को भर्ती में वरीयता देती है ।


यहाँ आपको हमनें एनसीसी प्रमाण पत्र के महत्व के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |


ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |

Read: Indian Army Physical Standard Test

Read: Indian Army Medical Standard Test

Read: Upcoming Defence Jobs 2018 - 19

Advertisement


Advertisement