सिरेमिक इंजीनियरिंग (Ceramic Engineering) में करियर- पूरी जानकारी विस्तार से

Monday, January 29, 2018

सिरेमिक इंजीनियरिंग (Ceramic Engineering) में करियर- पूरी जानकारी विस्तार से


सिरेमिक इंजीनियरिंग में करियर

साइंस स्‍ट्रीम से 12वीं उत्तीर्ण करने के पश्चात अधिकांश छात्र डॉक्‍टर या इंजीनियर बनना चाहते हैं | इन स्टूडेंट्स के लिए एग्रीकल्चर, फॉरेंसिक साइंस, बायो टेक्नोलॉजी, जूलॉजी, फूड टेक्नोलॉजी समेत कई अन्य कोर्सेस भी उपलब्ध हैं, यदि आपकी रुचि इंजीनियरिंग के नए और उभरते क्षेत्रों में है ,तो आप सिरेमिक इंजीनियरिगं में अपना करियर बना सकते हैं |  

सिरेमिक इंजीनियर मिट्टी, बालू, क्ले और चीनी मिट्टी जैसे कई पदार्थों के उपयोग से बर्तन, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स पदार्थों का निर्माण करते हैं | सिरेमिक इंजीनियरिगं में अपना करियर कैसे बना सकते है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


सिरेमिक इंजीनियरिगं क्या है
इंजीनियरिंग की समृद्ध और प्रगतिशील शाखा सिरेमिक इंजीनियरिंग आपके लिए एक बेहतर करियर सिद्ध हो सकता है। सिरेमिक इंजीनियरिंग के क्षेत्र में सिरेमिक (मिट्टी) मैटीरियल्स के निर्माण और उसके प्रयोग के लिए विभिन्न तकनीको का प्रयोग किया जाता है । सिरेमिक इंजीनियरिंग फाइन आर्ट के साथ विज्ञान का एक मिश्रण है ,जो किसी घर के इंटीरियर से लेकर किसी बड़े प्रोजेक्ट को छोटे रूप में साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ।


सिरेमिक इंजीनियर्स सेरामिक मैटीरियल्स के अध्ययन, उनके व्यवहार, कार्य और प्रयोग के विशेषज्ञ होते हैं । यह नॉनमैटेलिक इनऑग्रेनिक मैटीरियल्स को अनेक प्रकार के सेरामिक प्रोडक्ट्स में बदलने की विधि विकसित करते हैं- जैसे ग्लासवेयर, फाइबर ऑप्टिक्स प्रोडक्ट्स, सीमेंट और ईटों से लेकर स्पेस व्हीकल की कोटिंग, माइक्रो-इले क्ट्रॉनिक्स, न्यूक्लियर फ्यूल के कम्पोनेंट और पॉल्युशन कंट्रोल डिवाइस आदि ।

सिरेमिक इंजीनियर का मुख्य कार्य रिसर्च, प्रोडक्ट डेवलपमेंट और प्रोडक्शन इंजीनियरिंग होते हैं। इस क्षेत्र के इंजीनियर्स को लगातार नये विचारों के साथ नये उत्पाद और उपाय भी बताने होते हैं । वह  अपने वैज्ञानिक ज्ञान का उपयोग उत्पादों की जगह नये उत्पादों के अनुप्रयोग के लिए करते हैं।

उत्पादन हेतु तैयार किये गये सैम्पल को कलर, सर्फेस फिनिश, टेक्सचर, स्ट्रेंथ और यूनिफॉर्मिटी और मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस के करेक्शन के लिए इंजीनियर्स द्वारा किया जाता है। सिरेमिक इंजीनियर्स सेल्स विभाग में भी कार्य करते हैं, जहां उन्हें कस्टमर्स की आवश्यकताओं के आधार पर भविष्य के रिसर्च का मार्गदर्शन मिलता है, इसके अतिरिक्त आधुनिक चिकित्सा विज्ञान में भी सिरेमिक इंजीनियर्स का योगदान महत्वपूर्ण हैं ।


सिरेमिक इंजीनियरिंग से संबंधित कोर्स:
साइंस स्ट्रीम से 12वीं पास करने के पश्चात इस पाठ्यक्रम को किया जा सकता है | सिरेमिक टेक्नोलॉजी के बैचलर्स प्रोग्राम में प्रवेश लेने हेतु छात्र को कक्षा बारह मे फिजिक्स, कैमेस्ट्री और मैथ्स विषय लेना आवश्यक है । कई इंजीनियरिंग कॉलेज चार वर्षीय बीई, बीटेक इन सिरेमिक कोर्स भी ऑफर करते हैं । 

इंजीनियरिंग की किसी भी शाखा के समान ही सिरेमिक इंजीनियरिंग में भी प्रवेश  लिखित परीक्षा के आधार पर होता है । बीटेक के बाद गेट की परीक्षा देकर पोस्ट ग्रेजुएशन भी किया जा सकता है । डिजाइन और एनालिसिस इस इंडस्ट्री  में काम करने के लिए अपेक्षित योग्यताएँ हैं ।


सिरेमिक इंजीनियरिंग हेतु व्यक्तिगत गुण
1.सिरेमिक और ग्लास से संबंधित उत्पादों पर क्रिएटिविटी और डिजाइनिंग का अत्यधिक महत्व होता है ।

2.ऐसे में कॅरियर बनाने के लिए क्रिएटिव माइंड का होना आवश्यक है ,तथा इसमें टीम के साथ मिलकर कार्य करना चाहिए ।

3.उत्पादन के कार्य से जुड़ने के लिए गर्म माहौल में भी धैर्यपूर्वक काम करने की क्षमता विकसित करना आवश्यक है ।


पाठ्यक्रम हेतु शिक्षण संस्थान
1.बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी ।

2.सेंट्रल ग्लास एंड सिरेमिक रिसर्च इंस्टिट्यूट, जाधवपुर विश्वविद्यालय, कोलकाता ।

3.कॉलेज ऑफ सिरेमिक टेक्नोलॉजी, कोलकाता ।

4.पीडीए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग गुलबर्गा, कर्नाटक ।

5.यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, कोलकाता ।


क्या बनेंगे आप
1.प्रोजेक्ट सुपरवाइजर |

2.टेक्निकल कंसल्टेंट |

3.सेल्स और मार्केटिंग इंजीनयर |

4.सिरेमिक एक्सपर्ट |

5.सिरेमिक शिक्षक |


सिरेमिक इंजीनियर्स का वेतन
सिरेमिक इंजीनियर की शैक्षिक योग्यता और अनुभव के साथ ही कार्य स्थल और कार्य के प्रकार के आधार पर वेतन भिन्न होता  है । फ्रेशर्स को कम से कम 25,000 से 45,000 प्रतिमाह तक प्राप्त होता है , जो अनुभव के आधार पर लाखों तक पहुंच जाता है। इस क्षेत्र में बेहतर काम करने वाले लोगों की मांग निरंतर बढ़ रही है |

मित्रों,यहाँ आपको हमनें सिरेमिक इंजीनियर के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है ,तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही रोचक न्यूज़ को जानने के लिए हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करके आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |


Advertisement


Advertisement


No comments:

Post a Comment

If you have any query, Write in Comment Box