Feb 27, 2018

अगर महाराष्ट्र से एमबीबीएस करना चाहते हैं तो जान ले ये नया नियम

अगर महाराष्ट्र से एमबीबीएस करना चाहते हैं तो जान ले ये नया नियम
महाराष्ट्र,  भारत का तीसरा सबसे बड़ा राज्य है । भारत में कुछ नए सार्वजनिक और निजी विश्वविद्यालयों के साथ यह एक तेजी से अग्रसर है । राष्ट्रीय रैंकिंग के अनुसार, 5 से 7 कॉलेज और विश्वविद्यालय भारत में शीर्ष 20 में से हैं । महाराष्ट्र में विभिन्न चिकित्सा, दंत चिकित्सा संस्थान जैसे आर्मड फोर्स मेडिकल कॉलेज, महाराष्ट्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज और रिसर्च, गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज और अस्पताल और कई और अधिक हैं ।

Read: प्रतियोगिता परीक्षा के लिए तैयारी कहाँ से और कैसे Start करे

जिन स्टूडेंट्स ने दसवीं और बारहवीं की परीक्षा महाराष्ट्र से उत्तीर्ण की है, और जिनके पास डोमिसाइल सर्टिफिकेट है, इस वर्ष सिर्फ वही छात्र राज्य के मेडिकल कॉलेजेस में एमबीबीएस/बीडीएस सीट्स के लिए आवेदन कर सकते है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है ।

महाराष्ट्र से एमबीबीएस हेतु नए नियम
राज्य के डायरेक्टोरेट ऑफ मेडिकल एजुकेशन ऐंड रिसर्च (डीएमईआर) की तरफ से यह नियम पिछले साल लागू होने वाला था, लेकिन बॉम्बे हाई कोर्ट की औरंगाबाद बेंच ने इस पर स्टे लगा दिया था,  इस वर्ष ऐडमिशन के लिए यह नियम लागू होगा, इस नियम के अंतर्गत जिन छात्रों नें दसवीं और बारहवीं की परीक्षा महाराष्ट्र से उत्तीर्ण की है, और जिनके पास डोमिसाइल सर्टिफिकेट है, सिर्फ वही छात्र राज्य के मेडिकल कॉलेजेस में एमबीबीएस/बीडीएस सीट्स के लिए आवेदन कर सकते है |

Read: ये है भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज by Ranking India

डीएमईआर के डायरेक्टर प्रवीण शिगड़े के अनुसार, यह नियम दूसरे राज्यों के स्टूडेंट्स की अपेक्षा महाराष्ट्र के छात्रों को अच्छा अवसर मिलनें के लिए पिछले वर्ष बनाया गया था, जिसे इस वर्ष लागू किया जा रहा है, उन्होंने कहा, 'दूसरे राज्य डोमिसाइल पॉलिसी बहुत सख्ती से फॉलो करते हैं, और हमारे छात्रों को दूसरे राज्यों में प्रवेश के लिए काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है,जबकि दूसरे राज्यों के छात्र ऑल इंडिया कोटा से हमेशा अप्लाई कर देते हैं |

एग्जाम पैटर्न की जानकारी
इस वर्ष क्वेश्चर पेपर 11 भाषाओं  में होगा, इन भाषाओं में हिंदी, इंग्लिश, उर्दू, गुजराती, मराठी, उड़िया, बंगाली, असमी, तेलुगु, तमिल और कन्नड़ शामिल हैं | पेपर पैटर्न में 180 मल्टीपल च्वॉइस सवाल होंगे, जिन्हें 3 घंटे में पूरा करना होगा, 45-45 सवाल फिजिक्स, केमिस्ट्री और 90 सवाल बायोलॉजी के होंगे, बायोलॉजी में बॉटनी और जूलॉजी सब-सेक्शन के रूप में होंगे |

पेपर का पूर्णांक 720 अंक का होगा, प्रत्येक प्रश्न के लिए 4 अंक होंगे, जबकि गलत जवाब के लिए 1 अंक कट जाएगा, और प्रत्येक  सवाल के लिए औसतन 1 मिनट का ही वक्त मिलेगा, सिलेबस में क्लास 11 और 12 के विषय होंगे, यह सिलेबस सीबीएसई, एनसीईआरटी और सीओबीएसई से तैयार किया जाएगा |

Read: सफलता के लिए ज़रूरी है - Focus

यहाँ आपको हमनें महाराष्ट्र से एमबीबीएस करनें हेतु नए नियम के बारे में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

Read: विदेश में पढ़ने के लिए जानिये कैसे ले Bank से Education लोन

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |

Read: कैसे करे बिना कोचिंग के Competition Exam की तैयारी - जानिये



Advertisement