इंजिनियरिंग की तरफ रुझान कम, साइंस की बढ़ी मांग ऐसा क्यों हो रहा है - जाने कारण - Sarkari Naukri Career

Monday, March 19, 2018

इंजिनियरिंग की तरफ रुझान कम, साइंस की बढ़ी मांग ऐसा क्यों हो रहा है - जाने कारण

इंजिनियरिंग की तरफ रुझान कम, साइंस की बढ़ी मांग ऐसा क्यों हो रहा है
एक समय था, जब छात्र इंजीनियरिंग कोर्स के लिए काफी प्रयास करते थे, और यह शब्द काफी लोकप्रियता के साथ लिया जाता था, लेकिन अब समय बदल गया है, इंजीनियरिंग की जगह साइंस स्ट्रीम नें लिया है, छात्रों का रुझान साइंस स्ट्रीम की तरफ अधिक हो चुका है, एचआरडी से प्राप्त जानकारी के अनुसार, वर्ष 2016-17 में 97.3 लाख छात्रों ने बीए में प्रवेश लिया था, जबकि 47.3 लाख बीएससी में और 41.6 लाख ने इंजिनियरिंग में लिया था, इस वर्ष इंजिनियरिंग की संख्या में और अधिक कमीं होने की पूर्ण संभावना है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


क्यों कम हुआ इंजीनियरिंग की तरफ रुझान कम
बीएससी करनें वाले छात्रों के समक्ष अनेक विकल्प होते हैं, क्योंकि  बीएससी के अंतर्गत कंप्यूटर, इलेक्ट्रॉनिक्स और फार्मा आदि ब्रांचे सम्मिलित है,जबकि इंजीनियरिंग की डिग्री का अच्छा परिणाम तभी प्राप्त होता है, जब आपने यह डिग्री, किसी अच्छे संस्थान से प्राप्त की हो, इस प्रकार छात्रों के पास इंजीनियरिंग की डिग्री तो है,परन्तु अच्छे संस्थान की न होने के कारण छात्रों को अच्छी जॉब प्राप्त नहीं हो पाती| 

इसी कारण छात्रों का रुझान इंजीनियरिंग की तरफ से कम होता जा रहा है, थापर इंस्टिट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग ऐंड टेक्नॉलजी के निदेशक प्रकाश गोपालन ने बताया, 'हम अकसर देखते हैं कि इंजिनियर भी उसी नौकरियों के लिए लाइन में खड़े होते हैं, जिनके लिए बीए या बीकॉम के छात्र ।'


आकड़ो के अनुसार, छात्रों की रूचि
प्राप्त आकड़ो के अनुसार, आर्ट्स पहले स्थान पर बना हुआ है, आर्ट्स के बाद कॉमर्स का नंबर आता था, तीसरा नंबर साइंस एवं इंजीनियरिंग का होता था, वर्ष  2013 में बीए पाठ्यक्रम में 75.1 लाख छात्र थे, उसके पश्चात  28.9 लाख छात्रों के साथ कॉमर्स का नंबर था, बीटेक में 17.9 लाख, बीई में 16.4 लाख और बीएससी में 25.4 लाख छात्र थे, एक बार फिर छात्रों की रूचि में परिवर्तन हुआ, तथा कॉमर्स चौथे नंबर पर आ गया । 

वर्ष 2014-2015 में इंजीनियरिंग का क्षेत्र काफी महत्वपूर्ण हो गया था, क्योंकि उस समय आईटी सेक्टर में भर्ती बड़े पैमाने पर हो रही थी, जिससे  बीए, बीकॉम और बीएससी के छात्रों के बीच इंजिनियरिंग की लोकप्रियता में वृद्धि हुई, जिससे बिजनस या एमबीए जैसे कोर्स करने वाले छात्रों का रुझान इंजिनियरिंग की तरफ हो गया था, वर्तमान में छात्रों का रुझान साइंस स्ट्रीम की तरफ अधिक हो गया है |


मित्रों, यहाँ आपको हमनें छात्रों का रुझान इंजीनियरिंग से हटकर साइंस की तरफ होने के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |
ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें | 

  

Advertisement


Advertisement