Tuesday, February 13, 2018

UGC-NET की नहीं होगी जरुरत अगर इन संस्थाओ से किया होगा PHD - जाने यहाँ

UGC-NET की नहीं होगी जरुरत 
किसी भी संस्थान से पीएचडी करने वाले छात्र-छात्रा को भारतीय विश्वविद्यालयों और डिग्री कॉलेजों में शिक्षक के रूप में पढ़ाने हेतु यूजीसी या सीएसआईआर की पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण करनी पड़ती है |  

लेकिन यदि आपने दुनिया के शीर्ष-500 सूची में रहे किसी उच्च शिक्षा संस्थान से पीएचडी की है, तो आपको सहायक प्राध्यापक बनने के लिए यूजीसी या सीएसआईआर की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) पास करने की आवश्यकता नहीं होगी, और आपको अपनी पीएचडी के आधार पर ही इस पद के लिए योग्य हो जाएंगे,इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


शीर्ष-500 शिक्षण संस्थानों से पीएचडी करने पर
यदि आपने आईआईटी-दिल्ली, आईआईटी-मद्रास, आईआईटी-खड़गपुर, आईआईटी-रूड़की, आईआईटी-कानपुर, आईआईएससी-बेंगलुरु, आईआईटी-मुंबई, तथा  दिल्ली-विश्वविद्यालय जैसे शीर्ष 500 उच्च शिक्षण संस्थान से पीएचडी की शिक्षा प्राप्त की है, तो आपको सहायक प्रध्यापक बनने हेतु  यूजीसी या सीएसआईआर की नेट पास करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, इसके लिए नए नियम बनाए गए है, जिनके अंतर्गत आप पीएचडी के आधार पर ही इस पद के लिए योग्य माने जाएंगे ।

यूजीसी के नियमों के अनुसार, सामाजिक विज्ञान, विज्ञान, भाषा, पुस्तकालय विज्ञान, कला, वाणिज्य, मानविकीय, शिक्षा, विधि, पत्रकारिता एवं जनसंचार संकाय में सहायक प्राध्यापक की सीधी भर्ती में यह नियम लागू होगा । विश्व के प्रसिद्ध शिक्षण  संस्थानों और विश्वविद्यालयों की रैंकिंग जैसे क्यूएस रैंकिंग, टाइम्स हायर एजुकेशन रैंकिंग और एकेडमिक रैंकिंग ऑफ वर्ल्ड यूनिवर्सिटीज में कभी भी शीर्ष 500 में स्थान पाने वाले किसी भी संस्थान से पीएचडी करने वाले छात्र-छात्राओं को यह लाभ प्राप्त होगा । 


टाइम्स रैंकिंग के अनुसार
वर्ष 2018 की रैंकिंग में आईआईटी मुंबई,  भारतीय विज्ञान संस्थान, बेंगलुरु को शीर्ष-500 में स्थान प्राप्त हुआ था, जबकि   पिछले वर्ष  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास भी शीर्ष 500 में सम्मिलित हुए थे ।

क्यूएस रैंकिंग के अनुसार
वर्ष 2018 की क्यूएस रैंकिंग में, भारत के 8 उच्च शिक्षा संस्थानों को शीर्ष-500 में स्थान प्राप्त हुआ,  इसमें आईआईएससी-बेंगलुरु, आईआईटी-खड़गपुर, आईआईटी-रूड़की, आईआईटी-मुंबई, आईआईटी-दिल्ली, आईआईटी-कानपुर, आईआईटी-मद्रास, और दिल्ली-विश्वविद्यालय सम्मिलित है ।


मित्रों, यहाँ हमनें आपको शीर्ष-500 संस्थानों से पीएचडी होने पर सहायक प्राध्यापक बनने के लिए यूजीसी की नेट परीक्षा की आवश्यकता नहीं होने के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है | 

ऐसे ही एजुकेशनल न्यूज़ को जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |



Advertisement


Advertisement


No comments:

Post a Comment

If you have any query, Write in Comment Box