Saturday, March 31, 2018

बायोमेडिकल इंजिनियरिंग में कैसे बनाये करियर


बायोमेडिकल इंजिनियरिंग में कैसे बनाये करियर
वर्तमान समय में मेडिकल के क्षेत्र में अनेक प्रकार की आधुनिक तकनीक एवं उपकरणों का प्रयोग किया जा रहा है, ऐसे में इन उपकरणों को संचालित करने से पूर्व उनकी अच्छी तरह से जांच करना, तथा मानव शरीर के क्रियाकलापों और इन उपकरणों के  प्रभाव को समझना आवश्यक होता है, इंजीनियरिंग की जिस शाखा के अंतर्गत इन उपकरणों, एवं उनके प्रभाव के बारे में ज्ञान प्राप्त करते है, 'बायोमेडिकल इंजीनियरिंग' (बीएमई) कहलाता है |

इससे संबंधित कार्यों को करनें वाले प्रोफेशनल्स को ही बायोमेडिकल इंजीनियर कहते हैं, 'बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में आप अपना करियर कैसे बना सकते है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


क्या है बायोमेडिकल इंजीनियरिंग
इंजीनियरिंग के अंतर्गत बायोमेडिकल इंजीनियरिंग एक ऐसी शाखा है, जिसमें मेडिकल एप्लिकेशंस, विभिन्न इलाजों या डायग्नोस्टिक टेक्नोलॉजी के विकास और रिसर्च के लिए इंजीनियरिंग सिद्धातों की सहायता ली जाती है, बायोमेडिकल इंजीनियर का कार्य मेडिकल संबंधी उपकरणों की देखभाल और उनके सही तरह से कार्य करने संबंधी होता है, बीएमई एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें विशेषज्ञ इंजीनियरिंग एवं लाइफ साइंस के सिद्धांतों को प्रयोग में लाते हैं, यदि कोई छात्र, करियर के विकल्प के रूप में इसका चयन करता है, तो भविष्य में करियर के बेहतर अवसर प्राप्त हो सकते हैं, बायोमेडिकल साइंस, नेचुरल साइंस है, जो बीमारी के रोकथाम, इलाज करने में सहायक है ।


बायोमेडिकल इंजीनियरिंग की शाखाएं  
बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में अनेक प्रकार की सब-कैटेगरी होती हैं, जिनमें से किसी एक में विशेषज्ञता प्राप्त कर सकते हैं, इनमें बायोइंस्ट्रूमेंटेशन, बायोमटीरियल्स, सेल्यूलर, टिशू एंड जेनेटिक इंजीनियरिंग, क्लीनिकल इंजीनियरिंग, मेडिकल इमेजिंग, ऑर्थोपेडिक बायोइंजीनियरिंग, रिहैबिलिटेशन इंजीनियरिंग आदि सम्मिलित हैं ।

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग के अंतर्गत कार्य
बायोमेडिकल इंजीनियर को मेडिकल डिवाइस पर रिसर्च करने, टेस्टिंग से सम्बंधित कार्य करना होता है, अस्पतालों और मेडिकल सेंटर्स के लिए नए बायोमेडिकल सामानों की खरीदारी करनी पड़ सकती है | बायोमेडिकल इंजीनियर्स मेडिकल डिवाइसेज, स्पोर्ट्स मेडिसिन, स्टेम सेल रिसर्च, बायोमार्कर्स, जीनोमिक्स, नैनोटेक्नोलॉजी आदि क्षेत्रों में विशेषज्ञता प्राप्त करके कार्य कर सकते हैं,  बायोमेडिकल इंजीनियरिंग संबंधी प्रोजेक्ट्स में कृत्रिम अंग और प्रोस्थेटिक लिंब्स, कंप्यूटर की सहायता से होने वाली मेडिकल संबंधी क्रियाएं और इलाज, सूचना विज्ञान और मेडिकल इमेजिंग सम्मिलित होते हैं ।


शैक्षणिक योग्यता
इस पाठ्यक्रम के लिए छात्र को साइंस स्ट्रीम में 12 वीं उत्तीर्ण होना आवश्यक है, बायोमेडिकल इंजीनियर्स को इंजीयरिंग, भौतिकी, रसायन या जीव विज्ञान में स्नातक की डिग्री आवश्यक होती है, अधिकांशतः बायोमेडिकल इंजीनियरिंग संबंधी नौकरी के लिए बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री की आवश्यकता होती है | वर्तमान में अनेक मेडिकल संस्थानों द्वारा  बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में स्नातक स्तर का बीटेक पाठ्यक्रम कराया जा रहा  है, इसमें क्लीनिकल से सम्बंधित पाठ्यक्रम करना पड़ता है, यदि आप मेडिकल क्षेत्र में रिसर्च करना चाहते हैं, तो बायोमडिकल में एमफिल या पीएचडी करना आवश्यक हैं ।


रोजगार की संभावनाएं
भारत में बायोमेडिकल इंजीनियरिंग का हाई स्कोप है,  इस क्षेत्र में करियर के अच्छे अवसर हैं, बायोमेडिकल इंजिनियरिंग, इंजिनियरिंग और हेल्थ केयर के मध्य एक मजबूत सम्बन्ध है, बायोफील्ड में इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स, कंप्यूटर, मैकेनिकल, केमिकल और नैनोटेक्नॉलजी को सम्मिलित किया जा सकता है, बायोमेडिकल इंजीनियरिंग के अंतर्गत प्रयोगशालाओं में कार्य  किया जाता है, जहां  मानव के जैविक नमूनों का परीक्षण हाइटेक मशीनों के माध्यम से किया जाता है ।

इस क्षेत्र में रोजगार की कोई कमी नहीं है। बायोमेडिकल इंजीनियर रिसर्च लैब्स, दवा बनाने वाली कंपनियों एवं हेल्थकेयर कंपनियों, अस्पतालों, नर्सिग होम्स में आसानी से रोजगार प्राप्त कर सकते हैं, इसके अतिरिक्त बायोमेडिकल इंजीनियर प्रोडक्ट टेस्टिंग, डिजाइनिंग, चिकित्सकीय उपकरणों के उपयोग, उनकी देखरेख एवं रिसर्च संबंधी कार्य आदि अनेक कार्य किये जाते है |


वेतन
बायोमेडिकल इंजीनियर्स को प्रारंभ में 3 से 3.5 लाख रुपये वार्षिक प्राप्त कर सकते है,  25 से 35 हजार रुपये प्रतिमाह एक प्राइवेट अस्पताल एवं क्लीनिक से प्राप्त कर सकते है, कुछ वर्ष कार्य करने के पश्चात स्वयं का लैब स्थापित कर सकते हैं ।

प्रमुख शिक्षण संस्थान
क्र०स० शिक्षण संस्थान  वेबसाइट
1. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बॉम्बे www.iitb.ac.in
2. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली www.iitd.ac.in
3. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुड़की www.iitr.ac.in
4. एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा www.amity.edu
5. ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, नई दिल्ली www.aiims.edu

Read: ऑडियोलॉजी में करियर कैसे बनाएं, कहाँ से करे कोर्स

यहाँ आपको हमनें बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में करियर बनानें के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |

Read: डिप्लोमा कोर्स भी दिला सकता है बढ़िया जॉब

Advertisement


Advertisement