नैनो टेक्नोलॉजी में करियर कैसे बनाये - Sarkari Naukri Career

Monday, January 22, 2018

नैनो टेक्नोलॉजी में करियर कैसे बनाये

नैनो टेक्नोलॉजी में करियर कैसे बनाये  

आज का युग तकनिकी युग है ,तकनीक के क्षेत्र होने वाले निरंतर परिवर्तन के आधार पर 21वीं सदी नैनो सदी बनने जा रही है । तकनीक के आधार पर आज वस्तुओं के आकार को छोटा और मजबूत बनाने की प्रतिस्पर्धा चल रही है । विभिन्न क्षेत्रों में नैनो तकनीक विकसित करने हेतु विश्व के लगभग सभी देश बड़े पैमाने पर शोध कर  रहे हैं । 

अति सूक्ष्म आकार, बेजोड़ मजबूती और टिकाऊपन के कारण इलेक्ट्रॉनिक्स, मेडिसिन, ऑटो, बायोसाइंस, पेट्रोलियम, फॉरेंसिक और डिफेंस जैसे अनेक क्षेत्रों में नैनो टेक्नोलॉजी की संभावनाएं बढ़ती जा रही है | नैनो टेक्नोलॉजी में आप अपना कैरियर कैसे बना सकते है ,इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


क्या है नैनो टेक्नोलॉजी
नैनो टेक्नोलॉजी वह अप्लाइड साइंस है, जिसके अंतर्गत  100 नैनोमीटर से छोटे टुकड़ो पर कार्य किया जाता है । आज इस तकनीक के माध्यम से लगभग प्रत्येक क्षेत्र में तीव्र गति से परिवर्तन हो रहा है | नैनो एक ग्रीक शब्द है, जिसका शाब्दिक अर्थ है ,सूक्ष्म अर्थात छोटा नैनो टेक्नोलॉजी में प्रयोग होने वाले पदार्थों को नैनो मैटीरियल्स कहा जाता है। नैनो टेक्नोलॉजी का उपयोग वर्षों से बहुलक पॉलीमर तथा कंप्यूटर चिप्स में हो रहा है । 

इसके अलावा सूचना प्रौद्योगिकी और कंप्यूटर, भवन निर्माण सामग्री, वस्त्र उद्योग, इलेक्ट्रॉनिक्स और दूर संचार, घरेलू उपकरण, कागज और पैकिंग उद्योग, आहार, वैज्ञानिक उपकरण, चिकित्सा और स्वास्थ्य, खेल जगत, ऑटोमोबाइल्स, अंतरिक्ष विज्ञान, कॉस्मेटिक्स, अनुसंधान जैसे क्षेत्र में इसका प्रयोग होता है ।

नैनो टेक्नोलॉजी और नैनो विज्ञान, ये दोनों लगभग सभी विषयों से सम्बंधित हैं, जैसे जीवविज्ञान, इंजीनियरिंग, चिकित्सा, भौतिकी और रसायनशास्त्र । इसके अनुसंधान व विकास के कार्यक्षेत्र नैनो स्केल पर अतिव्यापी हैं । इंजीनियरिंग या अनुशंधान दोनों क्षेत्र में नैनो टेक्नोलॉजी से सम्बंधित करियर बनाने के अनेक विकल्प उपलब्ध हैं, जैसे बायोमेडिकल एवं बायोटेक्नोलॉजी, मैटीरियल साइंस, ऑटो इलेक्ट्रॉनिक्स, ऊर्जा व पर्यावरण, औषधि निर्माण, कॉस्मेटिक्स तथा माइक्रो-इलेक्ट्रॉनिक्स आदि ।


कोर्स करने हेतु योग्यता
इस टेक्नोलॉजी में पीजी करने हेतु विज्ञान विषय में 50 प्रतिशत अंको के साथ स्नातक होना आवश्यक है ,और  एम.टेक. करने के लिए बायोटेक्नोलॉजी, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्प्यूटर साइंस, मैटीरियल साइंस, मकेनिकल, बायो मेडिकल, केमिकल में से किसी भी विषय में बी.टेक. की डिग्री आवश्यक है |  

भारत में इस पाठ्यक्रम की शुरुआत लगभग दो दशक पहले हो चुकी है । कोर्स के अंतर्गत डिजाइनिंग ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स कंपोनेंट, सोलर एनर्जी, रिलेशनशिप बिटविन एन्वायरमेंटल साइंस एंड नैनो टेक्नोलॉजी के बारे में विस्तार से बताया जाता है


छात्र में आवश्यक स्किल्स 
1.लॉजिकल दिमाग और एकाग्रता के साथ सीखने की रूचि का होना आवश्यक है |

2.छात्र के अन्दर रचनात्मक क्षमता होना आवश्यक है |

3.मैथ्स में स्ट्रॉन्ग होना आवश्यक है |

4.नई तकनीक और अन्य चीजों के प्रति जागरूकता होनी चाहिए |

प्रमुख पाठ्यक्रम
1.बी.टेक. इन नैनो टेक्नोलॉजी |

2.एम.टेक. इन नैनो टेक्नोलॉजी |

3.पीजी इन नैनो टेक्नोलॉजी |


जॉब के अवसर
इस तकनीक से मेडिकल साइंस, पर्यावरण विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स , कॉस्मेटिक्स, सिक्योरिटी, फैब्रिक्स और विविध क्षेत्रों में उपयोगी है | फार्मा, मेडिकल, कृषि, डिफेंस, इलेक्ट्रॉनिक्स और खाद्य एवं पेय पदार्थ की कंपनियों में, सरकार एवं विभिन्न विश्वविद्यालयों द्वारा चलाए जा रहे शोध एवं विकास के प्रोजेक्ट में, शिक्षा और शोध में, बायोटेक्नोलॉजी के क्षेत्र में में यह उपयोगी है |

वेतन
इस क्षेत्र में वेतन योग्यता और अनुभव पर निर्भर होती है | नैनो टेक्नोलॉजी की बढ़ती मांग ने इस क्षेत्र में धन अर्जित करनें के  अनेक अवसर हैं ,जिनमें सरकारी और गैर-सरकारी दोनों हैं । एमटेक व्यक्ति को 3 से 4 लाख रुपये और अनुभवी व्यक्ति को 6 से 12 लाख रुपये प्रतिमाह प्राप्त होता है ।


प्रमुख शिक्षण संस्थान
1.इंडियन इंस्टीटय़ूट ऑफ टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली |
2.वेबसाइट: www.iitd.ac.in

3.जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली |
वेबसाइट: www.jmi.ac.in

4.नेशनल फिजिकल लेबोरेट्री, दिल्ली |
वेबसाइट: www.nplindia.org

5.इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बेंगलुरू |
वेबसाइट: www.iisc.ernet.in


6.गुरु जम्भेश्वर यूनिवर्सिटी, हरियाणा |
वेबसाइट: www.gjust.ac.in

7.मानव रचना अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय, फरीदाबाद, हरियाणा |
वेबसाइट: www.mriu.edu.in

8.मौलाना आजाद नेशनल इंस्टीटय़ूट ऑफ टेक्नोलॉजी, भोपाल |
वेबसाइट: www.manit.ac.in

मित्रों,यहाँ हमनें आपको करियर के क्षेत्र में विकसित नैनो टेक्नोलॉजी का बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही रोचक न्यूज़ को जानने के लिए हमारें sarkarinaukricareer.in पोर्टल पर लॉगिन करके आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी  पसंद आयी हो , तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें |



Advertisement


Advertisement