Thursday, March 1, 2018

बोर्ड एक्जाम्स की मत लीजिये टेंशन, बच्चों को बताइए ये बातें

बोर्ड एक्जाम्स की मत लीजिये टेंशन
बोर्ड परीक्षाओं के समीप आते ही छात्रों में तनाव होना स्वाभाविक है, लेकिन कई बार परीक्षा का यह स्ट्रेस इतना अधिक  हो जाता है, कि तैयारियां प्रभावित होने लगती हैं, ऐसे में खास तौर से अभिभावकों का दखल अधिक बढ़ जाता है, जबकि ऐसे में बच्चों के साथ पूरा सहयोग करना चाहियें, परीक्षा की तैयारी के समय डर को कम करने वाले तरीकों को बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


परीक्षा की चिंता और तनाव कैसे सुलझाएं ?
आज बढ़ती हुई प्रतिस्पर्धा के कारण कई बच्चों और बच्चो के साथ –साथ परिजनों को भी परीक्षा का तनाव होता है, क्योंकि उनके मन में परीक्षा में प्रदर्शन और उसके परिणामों का डर होता है,  इसका प्रमुख कारण या तो आत्मविश्वास की कमी या परीक्षा में बेहतरीन नतीजे लाने का दबाव होता है |

प्रत्येक बच्चे का व्यक्तित्व भिन्न-भिन्न होता है, और उनके सीखने के अपने तरीके होते हैं, इसलिए बच्चों की आपस में तुलना नहीं करनीं चाहियें, अपने बच्चे की क्षमताओं की सराहना करें और उन्हें अपने तरीके से सफल बनने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिये |

माता-पिता बच्चों के प्रेरणास्रोत होते हैं, और बच्चों की भावनात्मक स्थिति काफी हद तक माता-पिता के सहयोग पर निर्भर करती है, जहां आवश्यक हो वहां तैयारी में सक्रिय रूप से भाग लेते हुए बच्चों का मार्गदर्शन करना आवश्यक है |


परीक्षा में खान-पान का रखें खास ध्यान
अक्सर देखा जाता है, कि परीक्षा के दौरान छात्र खाना-पीना भूल सिर्फ पढ़ाई में लगे रहते हैं, जो कि स्वस्थ्य के लिए उपयुक्त नहीं है,  परीक्षा  दौरान स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए तथा फास्ट फूड का सेवन से बचना चाहियें, क्योंकि फास्ट फूड आपकी एकाग्रता को कम करता है, इसलिए परीक्षा की तैयारियों में संतुलित आहार लें और तरल पदार्थों का सेवन अधिक करें ।

डॉक्टरों का कहना है कि, स्वस्थ खाने से स्मरण शक्ति बढ़ती  है, साथ ही शरीर भी फिट रहता है,  पढ़ाई के साथ ही छात्रों के लिए खाना-पीना भी बहुत आवश्यक है,  माता-पिता तैयारी में सक्रिय रूप से भाग लेकर हुए बोर्ड परीक्षा के तनाव से निपटने में बच्चों की सहायता कर सकते हैं, पढ़ाई और परीक्षा के विषय में अच्छे विचार और सही अध्ययन की आदतों का पालन करना आवश्यक है |


कुछ आवश्यक टिप्स
1.छात्रों को प्रतिदिन नियमित रूप से अभ्यास और रिवीजन करना चाहियें । 

2.अपने समय प्रबंधन पर विशेष ध्यान दें और अपने टाइम-टेबल के अनुसार पढ़ाई करें ।

3.परीक्षा के बाद उत्तरों पर चर्चा करने से बचें, जो परीक्षा हो गई उसकी चिंता से परेशान होने की बजाय अगले पेपर पर फोकस करें ।

4.परीक्षा समय में अधिक रिवीजन की आवश्यकता होती है, लेकिन परीक्षा के समय आराम करना भी समान रूप से जरूरी है, लगातार पढ़ते रहने और तनाव से थकावट और कमजोरी हो सकती है, वहीं कुछ देर के आराम से मन और माइंड फ्रेश हो जाता  है ।

5.पढ़ाई के मध्य कुछ समय पश्चात एक ब्रेक लेकर बाहर जाकर टहलकर आएं |

6.अपने शौक, संगीत, कला या कोई किताब पढ़ने का आनंद लें |


यहाँ आपको हमनें परीक्षा की तैयारी के समय डर को कम करने वाले तरीकों के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |


  

Advertisement


Advertisement