Monday, March 5, 2018

होटल इंडस्ट्रीज में करियर कैसे बनाये - जाने यहाँ विस्तार से

होटल इंडस्ट्रीज में करियर कैसे बनाये - जाने यहाँ विस्तार से
भारत में बढ़ते पर्यटकों की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है, जिसके कारण अधिकांश लोगो का ध्यान होटल इंडस्ट्री की ओर जा रहा है, पिछले सात वर्षो में भारतीय होटल इंडस्ट्री में 150 फीसदी की ग्रोथ हुई है, भारत में होटल इंडस्ट्री के विकास का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है, कि एशिया प्रशांत क्षेत्र में होटल इंडस्ट्री के विकास के मामले में भारत चीन के बाद दूसरे स्थान पर है, होटल इंडस्ट्री में संभावनाओं को देखते हुए होटल मैनेजमेंट से सम्बंधित कोर्स के बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


होटल इंडस्ट्रीज में करियर
होटल इंडस्ट्री का सीधा सम्बन्ध टूरिस्ट से होता है, देश में पर्यटको के आने से होटल इंडस्ट्री को काफी बढ़ावा मिलता है, टूरिस्ट  की संख्या में लगातार वृद्धि होने से होटल इंडस्ट्री में एक विशेष परिवर्तन हो रहा है, होटल इंडस्ट्री में लाखों लोगों को नौकरियां मिल रही है । 

भारत में होटल इंडस्ट्री के विकास का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है, कि एशिया प्रशांत क्षेत्र में होटल इंडस्ट्री के विकास के मामले में भारत चीन के बाद दूसरे स्थान पर है, होटल इंडस्ट्री में संभावनाओं को देखते हुए अपनी इच्छानुसार होटल मैनेजमेंट से सम्बंधित कोर्स कर सकते हैं, और अपने भविष्य को एक नई दिशा दे सकते है | 


शैक्षिक योग्यता
किसी भी मान्यताप्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से 12वीं या इसके समकक्ष उत्तीर्ण होना आवश्यक है, 12वीं में अंग्रेजी एक अनिवार्य विषय के रूप में होनी चाहिए, इसके साथ-साथ  न्यूमैंरिकल एबिलिटी, सामान्य ज्ञान व सामान्य विज्ञान की जानकारी आवश्यक है ।

कोर्स से सम्बंधित जानकारी  
होटल मैनेजमेंट में दो प्रकार के पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं, 12वीं के बाद बीए इन होटल मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट, बैचलर डिग्री इन होटल मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन होटल एंड कैटरिंग मैनेजमेंट, बैचलर डिग्री इन हॉस्पिटैलिटी साइंस, बीएससी होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग साइंस,  इन पाठ्यक्रमों  की अवधि 6 माह से 3 वर्ष तक है, इसके अतिरिक्त पीजी डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट, एमएससी इन होटल मैनेजमेंट और एमए इन होटल मैनेजमेंट कोर्स कर सकते हैं, जिसकी अवधि 2 वर्ष है ।


होटल मैनेजमेंट की शिक्षा की जिम्मेदारी, नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी पर है, काउंसिल की स्थापना वर्ष 1982 में केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के अंतर्गत हुई थी । बीएससी (हॉस्पिटेलिटी एंड होटल एडमिनिस्ट्रेशन) का तीन वर्षीय अवधि का डिग्री कोर्स काउंसिल और इग्नू द्वारा संयुक्त रूप से संचालित किया जा रहा है, जिसके अंतर्गत होटल मैनेजमेंट के 21 केंद्रीय संस्थान, 7 प्रदेश संस्थान तथा 7 निजी होटल प्रबंधन संस्थान हैं, इनकी 5700 सीटों के लिए अखिल भारतीय स्तर पर संयुक्त चयन परीक्षा प्रति वर्ष आयोजित की जाती है, जबकि बीएचएम कोर्स का आयोजन प्रति वर्ष किया जाता है ।

नौकरी के अवसर
होटल मैनेजमेंट पाठ्यक्रम करने के पश्चात आप होटल एवं हॉस्पिटैलिटी उद्योग में मैनेजमेंट ट्रेनी के रूप में कार्य की शुरुआत कर सकते हैं, इसके अतिरिक्त  होटलों में किचन मैनेजमेंट, हाउसकीपिंग मैनेजमेंट, एयरलाइन केटरिंग, केबिन सर्विसेज, सर्विस सेक्टर में गेस्ट या कस्टमर रिलेशन एक्जिक्यूटिव, फास्ट फूड चेन, रिसोर्ट मैनेजमेंट, क्रूज शिप होटल मैनेजमेंट, गेस्ट हाउसेज, हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन, केटरिंग, रेलवे या बैंक या बड़े संस्थानों में केटरिंग या कैंटीन आदि में नौकरियां मिल सकती हैं, इसके साथ साथ आप अपना स्वरोजगार भी कर सकते हैं ।


सैलरी पैकेज
कोर्स समाप्ति के बाद करियर के शुरुआती दौर में 10,000 से 15,000 रुपये प्रति माह मिलने लगते हैं, कुछ वर्षों का अनुभव प्राप्त  करने के बाद सैलरी लगभग 30 से 40 हजार रुपये हो सकती है |

प्रमुख संस्थान
1.नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी, नोएडा |

2.इंदिरा गांधी ओपन यूनिवर्सिटी, मैदान गढ़ी, नई दिल्ली |

3.एलबीआईआईएचएम, पीतमपुरा, नई दिल्ली |

4.कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय, टूरिज्म एंड होटल मैनेजमेंट विभाग, कुरूक्षेत्र, हरियाणा ।

यहाँ आपको हमनें होटल इंडस्ट्री में बेहतर करियर बनानें के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |



Advertisement


Advertisement