Friday, March 30, 2018

यूपी बोर्ड परिणाम 2018: माता-पिता बच्चो को क्या दे सलाह - चिंता और तनाव से निपटने के लिए


यूपी बोर्ड परिणाम 2018: माता-पिता बच्चो को क्या दे सलाह - चिंता और तनाव से निपटने के लिए
यूपी बोर्ड की परीक्षा का परिणाम में कुछ दिन शेष है, अर्थात परीक्षा परिणाम अप्रैल 2018 के प्रारंभ में घोषित किए जाएंगे, यह सच है, कि परीक्षा और परीक्षा परिणाम के समय बच्चों और उनके माता-पिता, दोनों के लिए तनाव भरा होता है, जिसमें कुछ तनाव सकारात्मक और कुछ नकारात्मक परिणाम देते हैं,परन्तु समझदार माता-पिता अपने बच्चों को ऐसे तनाव से निपटने में सक्षम बना सकते हैं, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |


यूपी बोर्ड परीक्षा परिणाम 
यूपी बोर्ड  का परीक्षा परिणाम आने वाला है, और सभी बच्चों को अपना परिणाम जानने की उत्सुकता बढ़ गई है, ऐसे में छात्रों को हमेशा परीक्षा परिणाम को लेकर डर लगा होता है, छात्रों के साथ-साथ उनके माता-पिता भी बड़ी धैर्यता के साथ परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे हैं। ऐसे समय में छात्र और अभिभावक दोनों ही तनाव में आ जाते हैं, हालाकि अभिभावकों को ऐसे समय में बच्चों का मनोबल बढ़ाना चाहिए और स्वयं भी रिजल्ट को बस एक पड़ाव समझना चाहिए और बच्चों में रिजल्ट को लेकर होने वाले तनाव को कम करने की कोशिश करनी चाहिए ।


अभिभावक की अपेक्षाओं बढ़ता है, तनाव
प्रत्येक माता पिता चाहते है, कि उनका बच्‍चा परीक्षा में अच्छे नंबर से पास हो, यह सोचना कुछ गलत नहीं है, लेकिन इस बात को लेकर अपने बच्चे पर अनावश्‍यक दबाव नहीं बनाना चाहियें,  इससे बच्चों का धैर्य खोने लगता है, इस बात पर ध्यान दें कि यह समय बच्चों का साथ देने का होता है, न कि उन पर दबाव डालने का |


बच्चों को दें- भावनात्मक आत्मविश्वास  
रिजल्ट के समय की स्थिति काफी गंभीर होती है, क्योंकि यहीं से छात्र अपनी आगे की पढ़ाई के लिए विकल्प का चयन करते है । परीक्षा कितनी भी अच्छी हुई हो, परन्तु परिणाम आने तक छात्रों में एक तनाव बना रहता है, अनेक बार ऐसा देखा गया है, कि अगर किसी बच्चे का रिजल्ट अच्छा नहीं आया तो, उन्हें परिवार के सदस्यों की नाराजगी का सामना करना पड़ता है |

जिसे कभी-कभी बच्चे बर्दाश्त नहीं कर पाते और ऐसी स्थिति उन्हें निराशा, डिप्रेशन, और अन्य गलत निर्णय ले लेते है,  ऐसे में अभिभावकों  को इस बात पर ध्यान देना चाहिए, कि वह अपने बच्‍चे को मोटिवेट करें और उसे इमोशनल सहारा दें । रिजल्‍ट आने के समय पर पैरेंट्स को अपने बच्चों का मनोबल बढ़ाना चाहिए |


अन्य छात्रों से तुलना करनें से बचें
अधिकांशतः अभिभावक अपने बच्चे की तुलना, दूसरे बच्चों से करनें लगते है, परीक्षा परिणाम के समय पड़ोसियों या दोस्तों के बच्चों से अपने बच्चे के परिणामों की तुलना करने से बचना चाहियें, यदि आपका बच्चा रिजल्ट को लेकर परेशान या घबराया हुआ है, तो बच्चे के साथ सही से बातचीत करें और उन्हें भावनत्मक न होने दे |



गुण
प्रत्येक अभिभावक को हमेशा अपने बच्चे की संभावनाओं और रुचि की पहचान करने का प्रयास करना चाहियें, हमेशा उनकी रुचि के आधार पर पाठ्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करना चाहियें, जिससे वह चयनित किये हुए मार्ग में अच्छा परिणाम प्राप्त कर सकें |


Read: सफलता के लिए ज़रूरी है - Focus

महत्वपूर्ण जानकारी
1.यूपी बोर्ड 2018 के परिणाम की घोषणा 15 अप्रैल, 2018 को घोषित किये जा सकते है ।
2.पिछली वर्ष यूपी बोर्ड ने जून में परिणाम घोषित किया था |
3.यूपी बोर्ड ने हाईस्कूल पाठ्यक्रम से प्रारंभिक गणित को हटा दिया है, बोर्ड के छात्रों के लिए एनसीईआरटी पाठ्यक्रम के लागू होने के बाद पाठ्यक्रम में परिवर्तन किया गया है ।
4.यूपी सरकार ने सीबीएसई-संबद्ध संस्थानों के बराबर सरकारी स्कूल के छात्रों को लाने के लिए यूपी बोर्ड द्वारा आयोजित परीक्षाओं में एनसीईआरटी पैटर्न लागू किया जायेगा ।

Read: बोर्ड एक्जाम्स की मत लीजिये टेंशन, बच्चों को बताइए ये बातें

यहाँ आपको हमनें यू पी बोर्ड के परीक्षा परिणाम के समय छात्रों को तनावमुक्त रखनें के बारें में बताया | यदि इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से व्यक्त कर सकते है | हमें आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार है |

ऐसे ही जानकारी जानने के लिए हमारें पोर्टल पर आप डेली विजिट करके इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा sarkarinaukricareer.in पोर्टल को सब्सक्राइब करें |

Read: Negative Thoughts से कैसे छुटकारा पाए

Advertisement


Advertisement