Friday, 15 January 2016

IAS Success Stories in Hindi - कैसे बन सकते है आप भी IAS

IAS Success Stories in Hindi - कैसे बन सकते है आप भी IAS

दोस्तों , आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको हम जाजमऊ के रहने वाले सूरज सिंह परिहार के बारें में बताएंगे जिन्होंने परिस्थितिया अनुकूल न होने पर भी सिविल सेवा परीक्षा में पास होने का दृढ़ निश्चय उनको एक ऊंचे सिखर पर ले आया |

सूरज ने सिविल सेवा की परीक्षा में सफलता प्राप्त करके अपना स्थान कायम कर लिया है | वर्तमान समय में सूरज सिंह दिल्ली स्थित कस्टम एंड एक्साइज डिपार्टमेंट में इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत है | सूरज सिंह से कुछ बातें की गई जिनके माध्यम से आपको IAS बनने के सपने में अवश्य ही मदद प्राप्त होगी , आप भी अपना IAS बनने का सपना पूरा करने में सफल होंगे |



सूरज सिंह के बातों का कुछ सारांश, तथा उनसे पूछे गए कुछ प्रश्न-

सिविल सर्विसेज में मिली इस सफलता पर कैसा लग रहा है?

सूरज सिंह ने बताया कि यह सपना हमारा और हमारे परिवार के सदस्यों का था , जो पूरा हो गया है | मैंने आईएएस बनने का सपना देखा जरूर था, लेकिन पता नहीं था कि कैसे पूरा होगा? परिस्थितियां भी अनुकूल नहीं थीं । घर मैं पापा प्राइवेट सेक्टर से रिटायर्ड हो चुके थे | इसके बाद घर की भी पूरी जिम्मेदारी हमारें ही कंधो पर आ चुकी थी | ग्रेजुएशन खत्म करने के बाद मैं दिल्ली आ गया था और फिर इंटरनेशनल बीपीओ में जॉब करने लगा था |

2005 से 2007 तक बीपीओ में काम करने बाद 2008 से 2012 तक स्टेट बैंक ऑफ महाराष्ट्रा में पीओ के पद पर नौकरी की। जॉब के साथ तैयारी करना बेहद ही मुश्किल था और जॉब को छोडऩा भी आसान नहीं था। फिर 2012 में एसएससी के द्वारा कस्टम एवं एक्साइज विभाग में इंस्पेक्टर के पद पर चयन हुआ। आखिरकार जो चाहता था, वह मंजिल मिल ही गई।

सूरज सिंह का IAS का सफल प्रयास-
सूरज सिंह ने बताया कि यह आईएएस का मेरा तीसरा प्रयास था। पहले प्रयास में मेरा चयन नहीं हुआ। दूसरे प्रयास में भी मैं इंटरव्यू तक ही पहुंचा और अंत में मुझे सफलता मिली।

कौन सा विषय चुना तथा कैसे की तैयारी-
इसके लिए मैंने हिंदी साहित्य को चुना था | फिर मैंने बीए और एमए की किताबों के अलावा एनसीईआरटी की किताबों से तैयारी में मदद ली , सामान्य अध्ययन के लिए सेल्फ स्टडी की और हिंदी साहित्य के लिए दिल्ली स्थित दृष्टि - द विजन से कोचिंग ली। इंटरव्यू की बारीकियां कानपुर के एपेक्स इंस्टीट्यूट की मदद से किया |


इंटरव्यू में पूछे गए सवाल-
मेरा इंटरव्यू प्रोफेसर डेविड सिंगली के बोर्ड में हुआ था जो ओवर ऑल अच्छा गया था। डेविड सर साउथ से थे, इसलिए उन्होंने अंग्रेजी में प्रश्न पूछे और मैंने भी उनके उत्तर अंग्रेजी में ही दिए। देश-दुनिया से संबंधित प्रश्न पूछे। तैयारी तो मेरी थी ही, इसलिए उनके जवाब देने में मुझे कोई समस्या नहीं आई और मैं प्रश्नो के उत्तर आसानी से देता गया।

सूरज सिंह की शैक्षणिक पृष्ठभूमि-
कानपुर के सरस्वती विद्या मंदिर, डिफेंस कॉलोनी से 75 प्रतिशत अंकों के साथ 10वीं की और इसी स्कूल से 81 प्रतिशत के साथ 12वीं की। इसके बाद डीएवी कॉलेज, कानपुर से बीए (67 प्रतिशत) किया और फिर 59 प्रतिशत के साथ एमए की डिग्री हासिल की।

अपनी सफलता का श्रेय किसको दिया-
अपने माता पिता को तथा परिवार के सभी सदस्यों को दिया |  यह भी कहा कि- उनसे जो हो सका अपनी सामर्थ्य के अनुसार हरसंभव मेरी मदद की। भाई-बहनों के प्यार से भी मेरा हौसला बना रहा। इसके अलावा मेरे दिवगंत दादाजी और दादीजी का आशीर्वाद भी मेरे साथ रहा। भगवान की अपार कृपा तो है ही।

सिविल सेवा की तैयारी में किन बातों को ध्यान में रखना आवश्यक-

सूरज सिंह यह बताया कि यूपीएससी के सिलेबस को पूरी तरह कवर करें। बुक्स को कवर न करें, टॉपिक्स को कवर करें। इसके अलावा उत्तर देते समय ध्यान रखें कि उत्तर क्रिएटिव होना चाहिए। इसके अलावा एनालिसिस करें। पैराग्राफ ज्यादा बड़े नहीं होने चाहिए। फैक्ट्स अच्छे होने चाहिए |


दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से हमने टॉपर सूरज सिंह के बारें में जाना | अब हमें विश्वाश है कि आपको IAS की तैयारी में अवश्य सहायता प्राप्त होगी | यदि अभी भी आपके मन में कोई करियर संबंधित प्रश्न आ रहा हो तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से अपने प्रश्नों को पूछ सकते हैं, आपके सवालों, प्रतिक्रिया और सुझाव का हमें हमेशा इंतज़ार रहेगा |



अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो हमारे फेसबुक पेज को like करना न भूलें |

सरकारी नौकरियों के ताज़ा अपडेट (हिंदी में ) फेसबुक पर पाने के लिए नीचे दिए बटन को लाइक करें

1 comment:

  1. I want to be an IPS OFFICER ,plz guide me how to prepare?

    ReplyDelete

Speak your Mind

Subscribe for Job alerts

Note: Please check your inbox to get your email verify.

TOP